शादी से पहले शगुन में मांग लिए क्रेडिट कार्ड

  • शादी से पहले शगुन में मांग लिए क्रेडिट कार्ड
You Are HereNcr
Sunday, November 13, 2016-6:23 PM

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नोटबंदी के फैसले का सबसे ज्यादा असर उन लोगों पर हुआ है जो लोग शादी की तैयारियों में लगे हैं। हालांकि इनके लिए विशेष व्यवस्था के तहत बीस हजार रुपए  निकालने की छूट दे रखी है, लेकिन इतनी रकम से शादी नही हो सकती है। ऐसे में शादी की तैयारी में जुटे परिवार वालों ने अपनी समस्या का समाधान करने के लिए अपने रिश्तेदारों से उनका क्रेडिट कार्ड मांग लिया है।

टैगोर गार्डन निवासी एक प्रेमी जोड़ा इसी माह 25 नवम्बर को शादी के बंधन में बंधने जा रहा है। अक्टूबर में ही दोनो का रिश्ता तय हो गया और इसके बाद शादी की तारीख तय कर बैंकट हॉल, बैंड बाजा,हलवाई, आदि की एडवांस बुकिंग भी हो गई थी। इसी बीच प्रधानमंत्री ने अचानक 500 और 1000 के नोट बंद करने का ऐलान कर दिया। जिससे शादी की तैयारी में लगे दोनो ही परिवारों की परेशानियां बढ़ गई।

समस्या इस बात की है कि , कि यदि शादी को टाला जाता है,तो एडवांस में दिया गया लाखों रुपया डूब जाएगा, क्योंकि एडवांस वापस नही होगा। शादी तब होगी ,जब 25 नवम्बर को शाम तक बैंकट हॉल में पूरा पैसा जमा करा दिया जाएगा। ऐसे में खुले पैसे का जुगाड़ करने के लिए परिवार वालों के साथ ही जिनकी शादी होनी है वह खुद भी लाइन में लग रहे हैं। वहीं खरीदारी के लिए दोनो ही परिवारों ने अपने अपने रिश्तेदारों से उनके क्रेडिट कार्ड शादी की शॉपिंग के लिए मांग लिए है।

 क्रेडिट कार्ड मांगने से पहले खरीदारी की जा सके इसे वह शादी से पहले ही रिश्तेदारों का दोनो दूल्हा-दुल्हन शगुन बता रहे हैं, जिनकी बदौलत शादी तय समय पर पूरी हो पाएगी। इसके अलावा दोनो ही परिवारों ने अपने रिश्तेदारों को बैंक से कैश बदलने और एटीएम से पैसा निकालने की लाइन में प्रतिदिन खड़ा कर रहे हैं। वहीं रिश्तेदारों को पुराने 500 और 1000 के नोट देकर उनसे चैक ले रहे हैं। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You