केजरीवाल सरकार ने मानी हार, चुनावी वायदे नहीं कर पाई पूरे: गुप्ता

  • केजरीवाल सरकार ने मानी हार, चुनावी वायदे नहीं कर पाई पूरे: गुप्ता
You Are HereNational
Monday, April 17, 2017-8:17 PM

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता विजेन्द्र गुप्ता ने आज कहा कि केजरीवाल सरकार ने आरटीआई के तहत कई विषयों पर अपनी विफलता स्वीकार की है और यह माना है कि आप सरकार ने 70 सूत्री चुनावी वायदों में से अनेक वायदे पूरे नहीं किए। भाजपा नेता विजेंद्र गुप्ता ने अपने बयान में दावा किया कि सूचना का अधिकार के तहत केजरीवाल सरकार ने यह माना है कि 70 सूत्री चुनावी वायदों में से अनेक वायदे पूरे नहीं हुए हैं। अनधिकृत कालोनियों के नियमित करने से लेकर जन लोकपाल बिल तक एेसे अनेक मुद्दे हैं, जिन पर 2 साल से अधिक समय में कोई कार्य हुए ही नहीं है। यह केजरीवाल सरकार की अक्षमता तथा अकुशलता का प्रतीक है।  

उन्होंने आरोप लगाया कि आम आदमी पार्टी का पहला वादा दिल्ली को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने और जन लोकपाल बिल क्रियान्वित करने का था, जबकि आरटीआई के तहत आप सरकार ने भ्रष्टाचार विरोधी कोई कदम नहीं गिनवाया। केवल सर्तकता विभाग द्वारा रूटीन कार्यवाही का जिक्र किया। जन लोकपाल बिल के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए केंद्र सरकार द्वारा जो आपत्तियां दर्ज करवाई गई थी, उन्हें संशोधित कर दोबारा नहीं भेजा गया। 

अनधिकृत कालोनियों के नियमितीकरण के आप सरकार के वादे का जिक्र करते हुए गुप्ता ने आरोप लगाया कि 1 जनवरी 2015 से अभी तक किसी भी अनधिकृत कालोनी को नियमित नहीं किया गया है। यह सरकार का प्रमुख चुनावी वादा था। परंतु, 2 साल के दौरान सरकार ने इसमें कोई ठोस कार्यवाही नहीं की और न ही केंद्र सरकार के साथ कोई तालमेल बैठाने की चेष्टा की। भाजपा नेता ने कहा कि 20 नए कॉलेज खोलने के वादा किया गया था लेकिन मार्च 2015 से अब तक कोई नया कॉलेज नहीं खोला गया है। सरकार ने उच्च शिक्षा की दिशा में अपने प्रमुख वादे के क्रियान्वयन के लिए एक इंच भी प्रगति नहीं की है। यहां तक कि नए कॉलेज खोलने के लिए जगहों तक का चयन नहीं किया गया है। किसी भी प्रकार की प्रशासनिक व वित्तीय स्वीकृति नहीं दी गई है। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You