खुद को लगीं 6 गोलियां, फिर भी बड़े भाई के ऊपर लेटकर बचाई जान...फिल्मी स्टाइल में बीच सड़क हुई वारदात

Edited By Seema Sharma, Updated: 09 May, 2022 02:10 PM

delhi subhash nagar shootout

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली कितनी सुरक्षित है इसकी पोल शनिवार रात को खुली। बीच सड़क पर सैकड़ों लोगों के सामने हमलावर आए और दो भाइयों पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर निकल गए।

नेशनल डेस्क: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली कितनी सुरक्षित है इसकी पोल शनिवार रात को खुली। बीच सड़क पर सैकड़ों लोगों के सामने हमलावर आए और दो भाइयों पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर निकल गए। यह सबकुछ फिल्मी स्टाइल में हुआ। घटना शनिवार की रात उस वक्त हुई जब केशोबपुर मंडी के पूर्व अध्यक्ष अजय चौधरी और उनके भाई जस्सी चौधरी रात करीब 8 बजे तिहाड़ गांव स्थित अपने आवास के पास थे।

 

हमलावरों के एक समूह ने उनकी कार को घेर लिया और सुभाष नगर में एक व्यस्त चौराहे पर उन्हें निशाना बनाते हुए 10 से अधिक गोलियां चलाईं। सीसीटीवी फुटेज में कैद हुई इस घटना में तीन हमलावर सफेद रंग की एक कार पर गोलीबारी करते हुए और उसका पीछा करते दिखे। हालांकि राहगीर रुक गए, लेकिन उनमें से कोई भी पीड़ितों की मदद के लिए आगे नहीं आया।

 

बड़े भाई को बचाने के लिए उसपर लेट गया छोटा भाई
गोली लगने के बावजूद बड़े भाई की जान बचाने के लिए जस्सी ने अपनी जान दाव पर लगा दी। जस्सी बड़े भाई के ऊपर लेट गया और कार को आगे-पीछे कर हमलावरों को छकाया। उसने गलत दिशा से कार भगाकर भाई और खुद को अस्पताल पहुंचाया। इस हमले में जस्सी को छह गोलियां लगी हैं जबकि अजय चौधरी को तीन गोली लगी हैं। दोनों भाइयों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। शुरूआती जांच में आपसी रंजिश की वजह से हमला करने की बात सामने आई है और हमलावर तिहाड़ गांव के ही बताए जा रहे हैं। 

 

हमलावरों को स्कूटी देने के आरोप में एक गिरफ्तार
रविवार को दिल्ली पुलिस ने 47 वर्ष के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया, जिसने कथित तौर पर अपराध के लिए अपने साथियों को स्कूटी दी थी। अधिकारियों ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी की पहचान राजू उर्फ ​​गुग्गा के रूप में हुई है।

 

पुलिस उपायुक्त (पश्चिम) घनश्याम बंसल ने कहा कि राजू ने अन्य आरोपियों को काले रंग की स्कूटी मुहैया कराई थी जिसका इस्तेमाल उस समय अपराध में किया गया था। उन्होंने कहा, ‘‘हमने दो अन्य लोगों की पहचान कर ली है और शेष आरोपियों को पकड़ने के लिए आगे की जांच जारी है।'' उन्होंने कहा कि हरि नगर पुलिस थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 307 और 34 तथा शस्त्र अधिनियम के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस को शक है कि जेल में बंद गैंगस्टर ने निजी रंजिश को लेकर दोनों भाइयों की हत्या की साजिश रची थी।

Related Story

Trending Topics

Indian Premier League
Gujarat Titans

Rajasthan Royals

Teams will be announced at the toss

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!