Maharashtra Crisis: संजय राउत की खुली धमकी- वापस लौट आएं बागी विधायक, नहीं तो सड़कों पर लग जाएगी आग

Edited By Anil dev,Updated: 25 Jun, 2022 12:18 PM

national news punjab kesari delhi shiv sena sanjay raut mumbai bjp

शिवसेना के मंत्री एकनाथ शिंदे की बगावत के बीच पार्टी के सांसद संजय राउत ने अपने बयान में कहा कि शिवसेना पर कोई आसानी से डाका नहीं डाल सकता है। एकनाथ शिंदे की ओर इशारा करते हुए

नेशनल डेस्क: शिवसेना के मंत्री एकनाथ शिंदे की बगावत के बीच पार्टी के सांसद संजय राउत ने अपने बयान में कहा कि शिवसेना पर कोई आसानी से डाका नहीं डाल सकता है। एकनाथ शिंदे की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि केवल पैसे के दम पर कोई पार्टी नहीं खरीद सकता है। अभी जो संकट है उसे हम संकट नहीं मानते बल्कि ये हमारे लिए पार्टी विस्तार का बहुत बड़ा मौका है। संजय राउत ने फिर से बागी विधायकों को इशारों में धमकी दी है।

उन्होंने कहा शिवसैनिक सब्र रखे हुए हैं। वरना शहर-शहर आग लग जाएगी। इसलिए आपसे कह रहा हूं लौट आएं। संजय राउत ने एकनाथ शिंदे गुट के संदर्भ में कहा कि वे जो दावे कर रहे हैं, करने दीजिए। नंबर्स में किसके पास ताकत है, वो फ्लोर पर दिख जाएगा। मैं ऐसे ही नहीं बोल रहा। मैं सीएम उद्धव ठाकरे की तरफ से बोलता हूं, यह याद रखिएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि  मैं देवेंद्र फडणवीस (भाजपा नेता) को सलाह दूंगा कि इस मामले में शामिल न हों और जो कुछ भी उनकी गरिमा के लिए बचा है, उसे बचाएं। हम चुनाव में एक-दूसरे को देखेंगे। उन्होंने कहा कि इस पार्टी को बनाने में बालासाहेब जी, उद्धव जी और सभी कार्यकर्ताओं ने खून-पसीना बहाया है। शिवसेना को कोई हाईजैक नहीं कर सकता। 

राउत ने कहा ‘‘संख्या किसी भी वक्त बदल सकती है।'' उन्होंने कहा कि मुंबई लौटने के बाद ही बागी विधायकों की पार्टी के प्रति वफादारी की असली परीक्षा होगी। शिवसेना नेता ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार को ‘‘धमकाने'' के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता नारायण राणे पर भी निशाना साधा। हालांकि इस दौरान उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया। शिवसेना से बगावत करने वाले शिंदे पार्टी के 37 विधायकों तथा नौ निर्दलीय विधायकों के साथ फिलहाल गुवाहाटी के एक होटल में हैं। राउत ने पत्रकारों से बातचीत में स्वीकार किया कि बगावत के कारण विधानसभा में पार्टी का संख्याबल कम हुआ है। उन्होंने कहा, ‘‘ बागी गुट ने पर्याप्त संख्याबल होने का दावा किया है और लोकतंत्र संख्याबल पर चलता है। लेकिन नंबर किसी भी वक्त बदल सकते हैं। जब बागी विधायक लौटेंगे, तो बाला साहेब ठाकरे और शिवसेना के प्रति उनकी वफादारी की परीक्षा होगी।'' 

राउत ने कहा कि यह कानूनी लड़ाई है, कुछ नियम हैं और उच्चतम न्यायालय के दिशानिर्देश हैं। उन्होंने कहा,‘‘ एमवीए एकजुट है....हमें उम्मीद है कि सदन में शक्ति परीक्षण के दौरान बागी एमवीए को समर्थन देंगे।'' इससे पहले उन्होंने ‘‘पीटीआई-भाषा'' से बातचीत में कहा था कि पार्टी बागी विधायकों के मुंबई लौटने का इंतजार कर रही है।'' उन्होंने कहा था,‘‘ मुख्यमंत्री उद्वव ठाकरे को उम्मीद है कि अधिकतर बागी विधायक पार्टी मे लौट आएंगे। बागियों को मुंबई लौटना होगा और राज्यपाल से मिलना होगा, इसके बाद विधायकों की गिनती होगी और विश्वास मत होगा।'' राउत ने ट्वीट करके शरद पवार को ‘‘धमकी'' देने के लिए केन्द्रीय मंत्री नारायण राणे पर भी निशाना साधा। उन्होंने किसी का नाम लिए बिना कहा, ‘‘क्या भाजपा इस प्रकार की भाषा की इजाजत देती है? सरकारें आएंगी और जाएंगी लेकिन महाराष्ट्र शरद पवार के खिलाफ इस प्रकार की भाषा को बर्दाश्त नहीं करेगा।'' गौरतलब है कि बृहस्पतिवार को राणे ने पवार पर निशाना साधते हुए कहा था कि वह शिवसेना के बागी विधायकों को धमका रहे हैं और अगर महाराष्ट्र विधानसभा में उन्हें कुछ होता है तो उसके परिणाम भुगतने होंगे। 

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!