राजस्थान में भीषण गर्मी का कहर जारी, लू लगने से 6 और लोगों की मौत; फलोदी में तापमान 49 डिग्री सेल्सियस

Edited By Pardeep,Updated: 24 May, 2024 11:00 PM

6 more people died due to heat stroke in rajasthan

राजस्थान में भीषण गर्मी ने सामान्य जनजीवन पर प्रतिकूल प्रभाव डाला है और कथित तौर पर लू लगने (हीट स्ट्रोक) से शुक्रवार को छह और लोगों की मौत की सूचना है। राजस्थान के आपदा प्रबंधन एवं सहायता नागरिक सुरक्षा विभाग के अनुसार शुक्रवार को राज्य में हीट वेव...

जयपुरः राजस्थान में भीषण गर्मी ने सामान्य जनजीवन पर प्रतिकूल प्रभाव डाला है और कथित तौर पर लू लगने (हीट स्ट्रोक) से शुक्रवार को छह और लोगों की मौत की सूचना है। राजस्थान के आपदा प्रबंधन एवं सहायता नागरिक सुरक्षा विभाग के अनुसार शुक्रवार को राज्य में हीट वेव से बालोतरा में तीन, भीलवाड़ा में एक, बीकानेर में एक, जोधपुर में एक व्यक्ति की मौत हो गई। हालांकि इन सभी जगहों पर पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं मिली है। 

राजस्थान के कई हिस्से शुक्रवार को भी भीषण गर्मी और लू की चपेट में रहे जहां आम जनजीवन प्रभावित हुआ है। जयपुर मौसम केन्द्र के अनुसार शुक्रवार को फलोदी 49 डिग्री सेल्सियस के साथ राज्य का सबसे गर्म स्थान रहा। जैसलमेर में अधिकतम तापमान 48.3 डिग्री सेल्सियस, बाड़मेर में 48.2 डिग्री, जोधपुर में 47.6 डिग्री, कोटा में 46.7 डिग्री, गंगानगर में 46.6 डिग्री, बीकानेर में 45.8 डिग्री, चूरू में 44.8 डिग्री और राजधानी जयपुर में 42.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अन्य स्थानों पर अधिकतम तापमान 41 डिग्री सेल्सियस से अधिक दर्ज किया गया। 

मौसम विभाग की आगामी समय में भी अत्यधिक गर्मी एवं लू की चेतावनी के दृष्टिगत चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव शुभ्रा सिंह ने शुक्रवार को समस्त चिकित्सा प्रबंधन संवेदनशीलता के साथ हीटवेव से बचाव एवं उपचार की पुख्ता व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिये है। उन्होंने अस्पतालों में कूलर, पंखे, एसी, वाटर कूलर आदि आवश्यक रूप से क्रियाशील रखने और जहां भी हीटवेव को लेकर आवश्यक व्यवस्थाओं में कमी है वहां 3 दिन के भीतर सम्पूर्ण व्यवस्थाएं सुचारू करने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि अन्यथा जिम्मेदार अधिकारी और कार्मिक के विरूद्ध सख्त एक्शन लिया जाएगा। 

सिंह ने शुक्रवार को स्वास्थ्य भवन में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से मौसमी बीमारियों एवं हीटवेव प्रबंधन को लेकर समीक्षा बैठक में कहा कि मौसमी बीमारियों एवं हीटवेव प्रबंधन को लेकर चिकित्सा संस्थानों में किसी तरह की कमी नहीं रहे। किसी भी स्तर पर लापरवाही के कारण मरीजों को होने वाली असुविधा बर्दाश्त नहीं की जा सकती। राज्य में भीषण गर्मी की स्थिति ने सामान्य जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है। 

जहां जोधपुर, बीकानेर, व कोटा संभाग के अनेक स्थानों पर हीटवेव से तीव्र हीटवेव व कहीं कहीं उष्ण रात्रि दर्ज की गई। जयपुर मौसम केन्द्र के अनुसार बृहस्पतिवार रात का तापमान कुछ स्थानों पर सामान्य से दो से सात डिग्री ऊपर दर्ज किये गये है। सर्वाधिक न्यूनतम तापमान फलौदी में 36.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से 8.8 अधिक है। 

मौसम विभाग ने आगामी चार दिनों में राज्य के अनेक स्थानों पर हीट वेव से तीव्र हीटवेव (अधिकतम तापमान 47 डिग्री सेल्सियस) व कहीं कहीं उष्ण रात्रि का दौर जारी रहने की प्रबल संभावना जताई है। विभाग ने आगामी 72 घंटों में राज्य के दक्षिणी व पश्चिमी भागों में अधिकतम व न्यूनतम तापमान में एक से दो डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी होने की संभावना बताई है।

Related Story

Trending Topics

India

97/2

12.2

Ireland

96/10

16.0

India win by 8 wickets

RR 7.95
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!