नोटबंदी को टाटा का समर्थन

  • नोटबंदी को टाटा का समर्थन
You Are Herecompany
Wednesday, November 23, 2016-3:01 PM

नई दिल्लीः टाटा समूह के अध्यक्ष तथा सम्मानित उद्योगपति रतन टाटा ने कालाधन और भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने के प्रयास के तहत 1000 रुपए तथा 500 रुपए के पुराने नोटों को अमान्य करने के सरकार के फैसले का समर्थन किया है। टाटा ने एक ट्वीट में कहा, "मोदी सरकार द्वारा पुराने नोटों का विमुद्रीकरण एक साहसिक कदम है। इससे कालाधन तथा भ्रष्टाचार समाप्त होगा। हमें इसका समर्थन करना चाहिए।" पुराने नोटों पर प्रतिबंध के बाद से कई लोग इसका खुलकर समर्थन कर रहे हैं तो कुछ लोग इसकी कड़ी आलोचना भी कर रहे हैं। इससे तत्काल देश में नकदी तथा अर्थव्यवस्था में तरलता की कमी हो गई है। 

हालांकि, सरकार का दावा है कि यह दिक्कत कुछ दिनों की है तथा जल्द ही सब कुछ सामान्य हो जायेगा। एक उद्योगपति के रूप में सम्मानित तथा अपनी साफ-सुथरी छवि के लिए जाने-जाने वाले टाटा का बयान एक तरह से समूह के विचार को भी प्रदर्शित करता है और इसलिए यह काफी महत्त्वपूर्ण है। 
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You