Subscribe Now!

आज का गुडलक: माघ गुप्त नवरात्र की घट स्थापना पर खुलेंगे सौभाग्य के द्वार

You Are HereNational
Thursday, January 18, 2018-7:03 AM

आज गुरुवार दि॰ 18.01.18 को माघ शुक्ल प्रतिपदा से घट स्थापना के साथ ही माघ गुप्त नवरात्र प्रारम्भ हो जाएगा। माघ गुप्त नवरात्र की एकम पर प्रथम दुर्गा शैलपुत्री के पूजन का विधान है। चंद्रमा पर अधिपत्य रखने वाली शैलपुत्री मानव मन पर सत्ता रखती हैं। देवी शैलपुत्री मूलतः महादेव कि अर्धांगिनी शिवा ही है। देवी पार्वती पूर्वजन्म में दक्ष कन्या सती थी। इनका जन्म हिमनरेश हिमावन के घर पार्वती रूप में हुआ। पर्वतराज हिमालय के घर पुत्री रूप में जन्म लेने पर इनका नाम शैलपुत्री पड़ा। श्वेत वर्ण शैलपुत्री के मस्तक पर स्वर्ण मुकुट में अर्धचंद्र सुशोभित है। ये वृष पर सवार हैं अतः इन्हें देवी वृषारूढ़ा भी कहते हैं। इन्होंने दाहिने हाथ में त्रिशूल व बाएं हाथ में कमल-पुष्प सुशोभित है। देवी शैलपुत्री की साधना का संबंध चंद्र से है। कालपुरूष सिद्धांत के अनुसार कुण्डली में चंद्र का संबंध चौथे भाव से है अतः देवी शैलपुत्री कि साधना का संबंध व्यक्ति के सुख, सुविधा, माता, निवास स्थान, पैतृक संपत्ति, वाहन, जायदाद व अचल संपत्ति से है। इनकी साधना से मनोविकार दूर होते हैं, जमीन जायदाद में लाभ होता है व सुख-सुविधा में वृद्धि होती है।


घट स्थापना मुहूर्त: प्रातः 08:37 से प्रातः 09:54 तक। 


पूजन विधि: घर के ईशान कोण में उत्तरपूर्व मुखी होकर पीले वस्त्र पर चनादाल भरे पीतल के कलश पर नारियल रखकर घट स्थापना कर देवी शैलपुत्री का दशोपचार पूजन करें। केसर मिले गौघृत का दीप करें, मोगरे की धूप करें, सफेद फूल चढ़ाएं, सफेद चंदन से तिलक करें, दूध-शहद चढ़ाएं, व मावे की मिठाई का भोग लगाएं तथा 1 माला इस विशिष्ट मंत्र की जपें। पूजन के बाद भोग कन्या को खिलाएं।


पूजन मंत्र: वंदे वाञ्छितलाभाय चन्द्रार्ध-कृत-शेखराम्। वृषारुढाम् शूलधराम् शैलपुत्रीं यशस्विनीम्॥


पूजन मुहूर्त: प्रातः 08:50 से प्रातः 09:50 तक।


आज का शुभाशुभ
आज का अभिजीत मुहूर्त:
दिन 12:10 से दिन 12:52 तक।
आज का अमृत काल: दिन 13:27 से दिन 15:14 तक।
आज का राहु काल: दिन 13:49 से दिन 15:08 तक। 
आज का गुलिक काल: प्रातः 09:55 से प्रातः 11:13 तक।
आज का यमगंड काल: प्रातः 07:18 से प्रातः 08:36 तक।


यात्रा मुहूर्त: आज दिशाशूल दक्षिण व राहुकाल वास दक्षिण में है। अतः दक्षिण दिशा की यात्रा टालें।


आज का गुडलक ज्ञान
आज का गुडलक कलर: पीत।
आज का गुडलक दिशा: ईशान।
आज का गुडलक मंत्र: ॐ श्रीं शैलपुत्री देव्यै: नम॥
आज का गुडलक टाइम: शाम 16:23 से शाम 17:23 तक।


आज का बर्थडे गुडलक: मनोविकार दूर करने हेतु केसर मिले दूध में छाया देखकर देवी शैलपुत्री पर चढ़ाएं।


आज का एनिवर्सरी गुडलक: सुख-सुविधा में वृद्धि हेतु हल्दी चढ़ा चांदी का सिक्का देवी शैलपुत्री पर चढ़ाकर पर्स में रखें।


गुडलक महागुरु का महा टोटका: पैतृक संपत्ति से लाभ हेतु शैलपुत्री पर चढ़े अक्षत पीले वस्त्र में बांधकर तिजोरी में रखें।

आचार्य कमल नंदलाल
ईमेल: kamal.nandlal@gmail.com

 

Edited by:Aacharya Kamal Nandlal
अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You