पोखरण में फायरिंग के दौरान थलसेना की तोप क्षतिग्रस्त

  • पोखरण में फायरिंग के दौरान थलसेना की तोप क्षतिग्रस्त
You Are HereNational
Tuesday, September 12, 2017-10:32 PM

नई दिल्ली: पोखरण फायरिंग रेंज में क्षेत्र परीक्षण के दौरान थलसेना की नई लंबी दूरी वाली तोप अल्ट्रा लाइट होवित्जर (यूएलएच) एम-777 क्षतिग्रस्त हो गई। इस मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं। थलसेना सूत्रों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। सूत्रों ने बताया कि अमेरिका में बनी इस तोप के बैरल में उस वक्त विस्फोट हो गया जब इसमें दो सितंबर को भारत में निर्मित गोला-बारूद भरकर दागा जा रहा था। 

बोफोर्स कांड सामने आने के करीब 30 साल बाद भारत को मई में 35-35 करोड़ रुपए में दो एम-777 यूएलएच मिले थे। यह घटना इन्हीं दो एम-777 यूएलएच में से एक में हुई है। बीएई सिस्टम्स की ओर से बनाए गए 155 एमएम, 39-कैलिबर के तोपों का क्षेत्र परीक्षण राजस्थान के पोखरण में किया जा रहा था। इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ। सूत्र ने बताया कि तोप का बैरल क्षतिग्रस्त हो गया और इसमें कितना नुकसान हुआ, इसका पता संयुक्त जांच टीम लगा रही है। बीएई सिस्टम्स के एक प्रवक्ता ने बताया कि एम 777 के फील्ड फायरिंग के दौरान इसमें दर्ज की गई खराबी से कंपनी अवगत है। 

उन्होंने कहा, ‘‘ हम घटना की जांच के लिए भारतीय सेना और अमेरिकी सरकार के साथ मिलकर काम कर रहे हैं ।’’ उन्होंने साथ ही कहा कि कंपनी जरूरी मदद मुहैया कराने के लिए तैयार है। सेना को 145 गन के लिए दिए गए आर्डर के तहत ये तोपें मिली थी और प्रशिक्षण के लिए सितंबर 2018 तक सेना को तीन और गनों की आपूर्ति की जानी है।  
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You