कश्मीर में 131वें दिन भी जनजीवन प्रभावित

  • कश्मीर में 131वें दिन भी जनजीवन प्रभावित
You Are HereNational
Wednesday, November 16, 2016-12:42 PM

श्रीनगर :  कश्मीर घाटी में अलगाववादियों की ओर से आहूत हड़ताल को 17 नवम्बर तक बढ़ाने के बीच आज 131वें दिन भी जनजीवन बुरी तरह प्रभावित रहा। घाटी में दुकानें और व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहने के बावजूद कल से 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षा शुरू होने के कारण आज भी सडक़ों पर बड़ी संख्या में निजी वाहनों की आवाजाही रही। हालांकि सरकारी वाहन अभी भी सडक़ों से नदारद हैं। अलगाववादी संगठन हुर्रियत कांफ्रेस के दोनों धड़ों और जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट ने हड़ताल पहले ही 17 नवंबर तक बढ़ा दी थी।


पुलिस ने बताया कि घाटी के किसी हिस्से में कफ्र्यू या पाबंदी लागू नहीं है। हालांकि कानून और व्यवस्था बनाये रखने के लिए सुरक्षा बलों को तैनात रखा गया है।
ऐतिहासिक जामिया मस्जिद के आसपास स्थिति में कोई परिवर्तन नहीं आया है। मस्जिद की ओर जाने वाली सभी सडक़ो को बंद रखा गया है और गत नौ जुलाई के बाद घाटी में फैली अशांति के बीच पिछले 18 सप्ताह से यहां जुमे की नमाज अदा नहीं की जा सकी है। श्रीनगर और कई बड़े शहरों में 10वीं की बोर्ड और 12 वीं की वार्षिक परीक्षा के मद्देनजर सडक़ों पर निजी वाहन खासकर कुछ तिपहिये और दोपहिया वाहनों के अलावा कैब चलते दिखे लेकिन सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था पूरी तरह ठप्प रही।


उल्लेखनीय है कि गत आठ जुलाई को अनंतनाग में हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी समेत तीन आतंकवादियों के सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारे जाने के बाद से घाटी में जारी अशांतिए कफ्र्यू और अलगाववादियों की ओर से आहूत हड़ताल के कारण घाटी में जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है।

 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You