प्रधानमंत्री ने रेल अधिकारियों से ट्रेन यात्रा सुरक्षित बनाने को कहा

  • प्रधानमंत्री ने रेल अधिकारियों से ट्रेन यात्रा सुरक्षित बनाने को कहा
You Are HereNcr
Sunday, November 20, 2016-6:47 PM

सूरजकुंड : एेसे दिन जब हाल के वर्षों के सबसे भीषण रेल हादसे में 100 से ज्यादा यात्रियों की मौत हो गई, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज रेल अधिकारियों से कहा कि ट्रेन यात्रा को सुरक्षित बनाने के लिए वह ‘‘शून्य दुर्घटना लक्ष्य’’ हासिल करने की दिशा में काम करंे। प्रधानमंत्री ने दिल्ली के पास सूरजकुंड में आयोजित रेल विकास शिविर में कहा कि कानपुर देहात में इंदौर-पटना एक्सप्रेस ट्रेन के दुर्घटनाग्रस्त होने की जांच कराई जाएगी। शिविर में मोदी और रेल अधिकारियों ने दो मिनट का मौन रखकर ट्रेन हादसे के मृतकों को श्रद्धांजलि दी।  

शिविर में मौजूद सूत्रों के अनुसार दुर्घटना को दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए मोदी ने रेलवे अधिकारियों से पूर्ण सुरक्षित प्रणाली सुनिश्चित करने को कहा ताकि शून्य दुर्घटना के लक्ष्य को हासिल किया जा सके। बाद में आगरा में एक रैली में प्रधानमंत्री ने दुर्घटना में मारे गए लोगों के प्रति शोक जताया और घायल हुए लोगों के प्रति सहानुभूति व्यक्त की। उन्होंने कहा कि दुर्घटना की जांच कराई जाएगी। प्रधानमंत्री रेल विकास शिविर में दो घंटे से भी ज्यादा समय तक रहे। उन्हें रेलवे के विभिन्न पहलुओं के बारे में एक प्रस्तुति भी दी गई। बाद में उन्होंने रेल अधिकारियों को संबोधित किया। 

उन्होंने उस गैलरी का भी दौरा किया जिसे रेलवे की नई पहलों को रेखांकित करने के लिए बनाया गया है। गैलरी में नाइट विजन कैमरा, पानी देने वाली मशीनें, रेल परिसरों में खाना गर्म रखने वाले बक्से, हरित पहलों आदि को दिखाया गया। रेलवे ने लोको पायलटों की मदद के लिए नाइट विजन कैमरा विकसित किया है। हरित पहलों में सौर और पवन उर्जा का उपयोग शामिल है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You