100 एकड़ में फैली है हीरो ई-साइकिल वैली, HYM के ज्वाइंट वेंचर से मिलेगा प्रोडक्शन को बढ़ावा

Edited By Radhika,Updated: 21 Sep, 2022 01:36 PM

hero e cycle valley spread over 100 acres

हीरो मोटर्स और यामाहा मोटर्स ने अक्तूबर 2021 में मिलकर एक समझौता किया था। इस समझौते के तहत दोनों कंपनियों ने लुधियाना में हीरो ई-साइकिल वैली में 'ग्लोबल ई-साइकिल ड्राइव यूनिट कंपनी' की स्थापना की है। इसी के साथ ऐसा कहा जा रहा है कि इस सुविधा में...

ऑटो डेस्क: हीरो मोटर्स और यामाहा मोटर्स ने अक्तूबर 2021 में मिलकर एक समझौता किया था। इस समझौते के तहत दोनों कंपनियों ने लुधियाना में हीरो ई-साइकिल वैली में 'ग्लोबल ई-साइकिल ड्राइव यूनिट कंपनी' की स्थापना की है। इसी के साथ ऐसा कहा जा रहा है कि इस सुविधा में नवंबर 2022 तक अलग- अलग चरणों में तकरीबन एक मिलियन यूनिट,ड्राइव मोटर्स के प्रोडक्शन का काम किया जाएगा।

PunjabKesari

100 एकड़ की में फैली इस, हीरो ई-साइकिल वैली में इलेक्ट्रिक साइकिल और कन्वेंशन स्टाइल साइकिल, अलॉय व्हील्स, एल्यूमीनियम फ्रेम और हैंडलबार के प्रोडक्शन का काम किया जाता है। इसके अलावा इस ज्वाइंट वेंचर के तहत प्रोड्यूस होने वाले ई-साइकिल्स को रिटेल नेटवर्क से सारी दुनिया में सेल किया जाएगा।

PunjabKesari

जानकारी के लिए बता दें कि भारत में इस समझौते से पहले जापान में हीरो इलेक्ट्रिक ने यामहा की स्मार्ट पावर व्हीकल बिजनेस यूनिट के साथ मिलकर EHX20 नाम के ई-साइकिल को लॉन्च किया था। लेकिन इस साइकिल के प्रोडक्शन का काम हीरो की गाजियाबाद यूनिट में किया गया था। इस वजह से इसकी कीमत 1.3 लाख रुपये थी। लेकिन अब यह साइकिल मार्केट में बिक्री के लिए उपलब्ध नहीं हैं।

हीरो ने साल 2019 में अपनी 400 करोड़ रुपए की इंवेस्टमेंट करते हुए भारत में इस ई-साइकिल वैली को विकसित किया था। जिसके बाद 2021 में यामाहा मोटर्स ने हीरो मोटर्स के साथ मिलकर एक समझौता किया था। इस समझौते को देखते हुए ऐसा माना जा रहा है कि इससे ई-साइकिल के प्रोडक्शन के दौरान लगने वाली कॉस्ट कम होगी और हीरो इलेक्ट्रिक की विश्वसनीयता में भी सुधार होगा।

<>

Related Story

Trending Topics

India

92/4

7.2

Australia

90/5

8.0

India win by 6 wickets

RR 12.78
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!