आमलकी एकादशी 2022: धन-ऐश्वर्य के हैं इच्छुक तो करें ये उपाय

Edited By Jyoti, Updated: 13 Mar, 2022 02:12 PM

amalaki ekadashi

हिंदू धर्म से संबंध रखने वाले लगभग लोग इस बात से वाकिफ है कि इसमें एकादशी का कितना अहम महत्व है। कहा जाता है 12 मास में कुल 24 तथा अधिक मास के आने पर 26 एकादशी तिथि पड़ती है।

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
हिंदू धर्म से संबंध रखने वाले लगभग लोग इस बात से वाकिफ है कि इसमें एकादशी का कितना अहम महत्व है। कहा जाता है 12 मास में कुल 24 तथा अधिक मास के आने पर 26 एकादशी तिथि पड़ती है। धर्म ग्रंथों में समस्त एकादशी तिथि को विशेष बताया गया है। प्रत्येक एकादशी के साथ पौराणिक कथाएं भी वर्णित हैं। तो वहीं ज्योतिष शास्त्र में इससे जुड़े उपाय भी उल्लेखित हैं। बात करें फाल्गुन माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी को तो इससे आमलकी एकादशी के नाम से जाना जाता है। इस बार ये एकादशी 14 मार्च, दिन सोमवार को पड़ रही है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन यानि आमलकी एकादशी पर भगवान विष्णु के साथ आंवले पेड़ की विशेष पूजा की जाती है। ऐसा कहा जाता है कि आंवले के वृक्ष में हिंदी धर्म के सभी देवी-देवताओं का वास होता है। तो वहीं ये भी कहते हैं कि आंवले का पेड़ भगवान विष्णु को बेहद प्रिय है। ऐसे में ज्योतिष बताते हैं कि अगर इस दिन व्यक्ति आंवले से जुड़े उपाय करता, तो व्यक्ति उसे लाइफ में सुख-समृद्धि की कमी भरपूर प्राप्त होती है। 

जीवन में धन-संपत्ति पाने के लिए आमलकी एकादशी के दिन घर में आंवले का वृक्ष लगाना बहुत ही शुभ माना जाता है। ऐसा करने से कार्यक्षेत्र में दिनभर दिन तरक्की मिलती है और धन-संपत्ति की प्राप्ति होती है। इसके साथ ही इस दिन भगवान विष्णु को आंवला भी अर्पित करना चाहिए।

जीवन में सफलता पाने के लिए इसके लिए एकादशी के दिन 21 ताजा पीले फूल की माला बनाकर भगवान विष्णु को अर्पित करें साथ ही इस दिन भगवान विष्णु को खोए से बनी मिठाई का भोग लगाएं। इससे भगवान जल्द ही प्रसन्न होते हैं और जीवन में सफलता प्राप्त होती है।

आमलकी एकादशी के दिन आंवले या आंवले के पेड़ को छूकर प्रणाम करें। ऐसा करने से कार्य में दोगुनी सफलता मिलती है क्योंकि आंवले के पेड़ परमां लक्ष्मी व भगवान विष्णु का वास होता है। 

अगर कार्यक्षेत्र में आपको किसी भी तरह की समस्या आ रही है, तो इस दिन आंवले के वृक्ष में जल चढ़ाएं। इसके बाद इसकी मिट्टी को माथे पर लगाना चाहिए। ऐसा करने से व्यवसाय में चल रही हर समस्या से छुटकारा मिलता है।

अगर पति-पत्नी के संबंध में किसी तरह की खटास है या फिर वैवाहिक जीवन में परेशानियां चल रही हैं तो एकादशी के दिन आंवले के वृक्ष के तने पर सात बार सूत का धागा बांधे। इसके बाद पति-पत्नी दोनों आंवले के पेड़ के नीचे घी का दीपक जलाएं। ऐसा करने से वैवाहिक जीवन में चल रही समस्याएं दूर होती है।

इसके अलावा अगर आप जीवन में ऐश्वर्य पाना चाहते हैं तो एकादशी के दिन सुबह स्नान के बाद विधि-विधान से भगवान विष्णु की पूजा करें। इसके साथ ही एकाक्षी नारियल अर्पित करें। पूजा के बाद इस नारियल को पीले कपड़े में बांधकर अपने पास या तिजोरी में रख लें। इससे धन की बढ़ोतरी होती है।

आर्थिक तंगी से छुटकारा पाने के लिए आमलकी एकादशी के दिन आंवले के पेड़ के नीचे बैठकर भगवान विष्णु की कथा पढ़ने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती है और उस व्यक्ति के जीवन में कभी भी धन की कमी नहीं रहती है।

आखिरी उपाय के तौर पर आपको बता दें कि आमलकी एकादशी के दिन घर में कलश की स्थापना करने से घर में हमेशा सुख-समृद्धि बनी रहती है। कलश रखते समय श्रीखंड और चंदन का लेप अवश्य लगाएं। फिर इसमें जल भरकर इसमें 5 आम के पत्ते डालें, इसके उपरांत इस पर एक जटा वाला नारियल रखें। मान्यता है कि ऐसा करने से घर के सदस्यों के बीच आपसी प्रेम बना रहता है।                                                                                                                                                                                            
  

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!