Subscribe Now!

तुलसी के पत्ते तोड़ते समय करें इस मंत्र का उच्चारण

  • तुलसी के पत्ते तोड़ते समय करें इस मंत्र का उच्चारण
You Are HereDharm
Wednesday, November 15, 2017-4:27 PM

प्राचीन काल से ही यह परंपरा चली आ रही है कि घर में तुलसी का पौधा होना चाहिए। शास्त्रों में तुलसी को पूजनीय, पवित्र और देवी स्वरूप माना गया है, इस कारण घर में तुलसी हो तो कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। 

 

तुलसी के पत्ते तोड़ते समय मंत्र 

मातस्तुलसि गोविन्द हृदयानन्द कारिणी 
नारायणस्य पूजार्थं चिनोमि त्वां नमोस्तुते ।।

 


तुलसी पत्र तोड़ने के नियम 

अमावस्या, चैादस तिथि को तुलसी नहीं तोड़ना चाहिए। रविवार, शुक्रवार और सप्तमी तिथि को भी तुलसी को तोड़ना शापित माना जाता है। तुलसी से पत्र तोड़ते समय देवी तुलसी से पत्र तोड़ने की इजाजत लेनी चाहिए। अकारण ही तुलसी पत्र नहीं तोड़ना चाहिए। झड़कर नीचे गिरे हुए तुलसी पत्र का पूजन व दवा आदि कार्यों में उपयोग करना उत्तम होता है।

 

 

वायु पुराण में तुलसी पत्र तोड़ने के संबंध में कहा गया है

अस्नात्वा तुलसीं छित्वा यः पूजा कुरुते नरः। 
सोऽपराधी भवेत् सत्यं तत् सर्वनिष्फलं भवेत्।।

अर्थात् बिना स्नान किए तुलसी को तोड़कर जो मनुष्य पूजा करता है। वह अपराधी माना जाता है औरल उसकी की हुई पूजा निष्फल जाती है। 
 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You