Subscribe Now!

Hug Day: अपनों के प्यार का अहसास करवाए ‘जादू की झप्पी’

  • Hug Day: अपनों के प्यार का अहसास करवाए ‘जादू की झप्पी’
You Are HereDharm
Monday, February 12, 2018-7:48 AM

जालंधर (शीतल जोशी): ‘लग जा गले के फिर हसीं रात हो न हो, शायद फिर इस जन्म में मुलाकात हो न हो’ प्यार से गले लगाना यानी आलिंगन करना एक बेहद ही सुखद अहसास होता है जिसमें दिल की गहराई से मन को सुकून महसूस होता है। वैलेंटाइन-डे के छठे दिन को ‘हग डे’ के रूप में मनाने को लेकर युवाओं में खासा उत्साह है। खास बात है कि वैलेंटाइन वीक में इस खास दिन के होने पर इसे प्रेमी-प्रेमिका के प्यार से जोड़ा जाता है जबकि आम जिंदगी में आलिंगन करना स्वाभाविक-सी बात है। रोता हुआ बच्चा जब मां के गले लगता है तो मानो जैसे दुनिया-जहां की परेशानियां छूमंतर हो जाती हैं। 


गले लगने या लगाने से हमारे दूसरों के प्रति अपने लगाव को आसानी से महसूस कर सकते हैं। ‘कोई कहे इसे जादू की झप्पी, कोई कहे इसे प्यार, मौका खूबसूरत है, आ गले लग जा मेरे यार, बोले तो जादू की झप्पी में कुछ ऐसा कमाल है कि आप अपनी सारी टैंशन को भूल कर रिलैक्स फील करने लगते हैं। ‘हग डे’ की खास बात यह है कि इसके लिए सिर्फ ब्वाय फ्रैंड या गर्ल फ्रैंड होने की ही जरूरत नहीं है, बल्कि आप अपने हर रिश्ते को गहरा और मधुर बनाने के लिए जादू की झप्पी ले सकते हैं। एक प्यारी-सी जादू की झप्पी आपके हर किसी के साथ रिश्ते में दूसरों को प्यार और केयर का अहसास करवा सकते है। इसके अतिरिक्त ग्रीटिंग कार्डस पर जादू की झप्पी के कुछ इस तरह के फायदे भी बताए गए हैं : Hugs are fat-free, sugar-free & require no batteries. Hugs reduce blood pressure, Body temperature, heart rate & help relieve pain & depression.


हम साथ-साथ हैं 
वैलेंटाइन वीक को अगर युवाओं के मस्ती के वीक की बजाय दूसरों की फीलिंग्स की रिस्पैक्ट करने के बारे में बताया जाए तो शायद इसके भाव सार्थक होंगे। वैलेंटाइन वीक के कुछ दिनों को पेरैंट्स भी बच्चों के साथ मिल कर मना कर खूब इंज्वाय कर रहे हैं। सुषमा ने बताया कि वह टीन एज बच्चों के साथ वैलेंटाइन वीक के हर दिन को मना रही है। फ्रैंडली होने का मौका वह कैसे गंवा सकती है। इसी तरह प्रो. जसप्रीत का मानना है कि आजकल बच्चे पहले से ही पेरैंट्स के क्लोज होते हैं। शालिनी ने बताया कि बच्चों के कोमल मन को सही रास्ता दिखाना जरूरी होता है। 


बच्चों को गले लगाएं, आत्मविश्वास बढ़ाएं  
जनरल ऑफ एपिडेमोलॉजी एंड कम्युनिटी हैल्थ के अनुसार बच्चों को प्रोत्साहित करते हुए गले लगाने से उनका मानसिक और शारीरिक विकास आसानी से होता है। मां-बाप बच्चों को प्यार में गले लगाते हैं तो उनका आत्मविश्वास बढ़ता है। बच्चे कोई गलती करें तो अभिभावक उनको गलती का अहसास करवाकर गले लगाएं। गले लगने से शरीर में रक्त का संचार बढ़ता है और दिल के रोगों का रिस्क भी कम हो जाता है।
 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You