2016 में हो गई थी ‘नोट बंदी’ की भविष्यवाणी

  • 2016 में हो गई थी ‘नोट बंदी’ की भविष्यवाणी
You Are HereThe planets
Monday, November 21, 2016-11:43 AM

सोशल मीडिया में नोट बंद होने से उत्पन्न स्थिति के बाद अत्यंत गंभीर चर्चाओं और राजनेताओं के आरोपों, प्रत्यारोपों के बीच ज्योतिषियों पर भी प्रहार होते रहे कि देश में 50 लाख ज्योतिषी हैं परंतु किसी को इसका पूर्वाभास क्यों नहीं हुआ और नास्त्रेदमस की तरह किसी ने इसकी भविष्यवाणी क्यों नहीं की? 


परंतु यदि आप विभिन्न पंचांगों पर नजर डालें तो मानना पड़ेगा कि वैदिक ज्योतिष सदा ऐसी परिस्थितियों से जन साधारण को आगाह करता रहा हैै। तमिलनाडु के ‘दुर्मुखी पंचांगम’ ने 2016 के आरंभ में ही लिखा था कि इस वर्ष बैंकों में अत्याधिक परिवर्तन होंगे और काले धन को अलग कर दिया जाएगा। कर विभाग को करोड़ों रुपये प्राप्त होंगे। उत्तर भारत के कई पंचांगों में लिखा हुआ है कि यदि कार्तिक पक्ष की संक्रांति रविवार को पड़े तो समाज में संताप, क्लेश तथा अर्थनाश होगा। यह दिन था 16 अक्तूबर जब कार्तिक संक्राति आरंभ हुई। 


एक अन्य सूत्र यह भी है कि कार्तिक शुक्ल पक्ष में पूर्णिमा के दिन 3 प्रहर तक भरणी नक्षत्र पड़े तो 3 महीने तक धन का अभाव रहेगा। अब यह हालत 31 मार्च ,2017 तक मान कर चलिए या बजट तक अन्य परिवर्तनों के लिए तैयार रहिए।


‘मुफीद आलम जंत्री और  पंचांग’  वर्ष 2016 के लिए, 2015 में दीवाली से भी पहले प्रकाशित हो गई थी। इसके पृष्ठ 83 पर लिखा है कि ‘‘2015 से 2017 तक गुरु केंद्र व त्रिकोण भावों में संचार करने से प्रधानमंत्री को विश्व के प्रमुख नेताओं में माना जाएगा। विश्व के सभी विकसित एवं विकासशील देश भारत से मैत्री और संवाद के लिए उत्सुक एवं तत्पर रहेंगे।’’


 ‘‘6 मार्च 2016 के बाद चंद्र मध्ये शनि की अन्तर्दशा स्वयं प्रधानमंत्री व केंद्रीय सरकार के लिए संर्घषमयी एवं समय अग्नि परीक्षा वाला रहेगा। अनेक सामरिक, आर्थिक निर्णयों के कारण यद्यपि उन्हें आलोचना का सामना करना पड़ेगा परंतु देश के दीर्घकालीन स्वास्थ्य के एवं प्रगति के लिए विशेष प्रबुद्घ वर्ग द्घारा प्रशंसा की जाएगी।’’


इसके अलावा पृष्ठ 35 पर लिखा है कि 8 नवंबर को बुध वृश्चिक राशि में आकर शनि के साथ मेल करेगा। बुध अस्त है। व्यापारी ध्यान रखें। बुध शनि का योग जबरदस्त मंदा करेगा।’’


आपने देखा कि इस अवधि में बाजार खाली पड़े हैं और लोग अपने पैसे के लिए परेशान हो रहे हैं। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You