विदुर नीति: स्त्री हो या पुरुष इन परिस्थितियों में उड़ जाती है रातों की नींद

  • विदुर नीति: स्त्री हो या पुरुष इन परिस्थितियों में उड़ जाती है रातों की नींद
You Are HereDharm
Monday, April 10, 2017-12:24 PM

महाभारत में प्रत्येक व्यक्ति महान अौर अद्भुत था। इसी प्रकार विदुर भी परम ज्ञानी और महान इंसान थे। विदुर हस्तिनापुर राज्‍य के शीर्ष स्‍तंभों में से एक अत्‍यंत नीतिपूर्ण, न्‍यायोचित सलाह देने वाले माने गए है। उनकी नीतियां जितनी उस समय में उपयोगी थी, उतनी ही आज भी हैं। अगर इन नीतियों में अमल किया जाए तो व्यक्ति की हर परेशानियों का हल निकल सकता है। विदुर ने ऐसी बातों के बारे में बताया है जो स्त्री हो या पुरुष सबकी नींद उड़ा देती है।

विदुर के अनुसार जब किसी के मन में कामभावना होती है तो उसे नींद नहीं आती। जब तक उस व्यक्ति की कामभावना तृप्त नहीं हो जाती उसे नींद नहीं आ सकती। विदुर ने इसका कारण बताते हुए कहा कि कामभावना व्यक्ति का मन अशांत कर देती है। जिसके कारण उसका मन किसी भी कार्य में नहीं लगता अौर न ही वह काम को ठीक से कर पाता है। इस समस्या का शिकार केवल पुरुष ही नहीं अपितु महिलाएं भी होती हैं। 

जब पुरुष या स्त्री की खुद से ज्यादा बलवान व्यक्ति से शत्रुता हो जाती है तब भी उनकी नींद उड़ जाती है। यदि आप कमजोर हैं फिर भी आपने बलवान व्यक्ति से शत्रुता मोल ले ली है तो दिन रात इसी बात के बारे में सोचते रहेंगे कि उस दुश्मन से कैसे बचा जाए। मन में यहीं विचार आते रहेंगे कि कोई अनहोनी न हो जाए। 

जिस व्यक्ति का सब कुछ छिन जाता है तो उसकी नींद भी उड़ जाती है। ऐसा व्यक्ति न तो चैन से सोता है अौर न ही जी पाता है। ऐसी मनोदशा होने पर व्यक्ति यहीं सोचता रहता है कि वह अपनी खोई हुई चीज को कैसे वापस पाए। वह इसके लिए तब तक प्रयास करता है जब तक उसे चीज मिल न जाए। वह तब तक आराम से नहीं सो पाता।

इसी प्रकार चोर को भी चैन की नींद नहीं आती। विदुर के अनुसार चोर चोरी करके अपना पेट भर लेता है लेकिन उसकी नींद उड़ जाती है। वह दिन रात जगह-जगह चोरी की योजनाएं बनाता रहता है और यह भी सोचता रहता है कि कोई उसकी चोरी पकड़ न ले और उसकी पिटाई न कर दे।


 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You