दुबई में होगी इंडि‍या की पहली इन्क्रेडि‍बल इंडि‍यन टेक्‍सटाइल एग्‍जीिबि‍शन

  • दुबई में होगी इंडि‍या की पहली इन्क्रेडि‍बल इंडि‍यन टेक्‍सटाइल एग्‍जीिबि‍शन
You Are HereInternational
Friday, February 17, 2017-5:27 PM

दुबईः अगले सप्ताह दुबई में इन्क्रेडिबल इंडियन टेक्सटाइल एग्‍जीिबि‍शन होगी। दुबई में अब तक की यह पहली इंडियन एग्जीबिशन होगी। बताया जा रहा है कि यह एग्जीबिशन अगले साल 19 और 20 फरवरी को आयोजित की जाएगी। इंडिया की तरफ से इसमें करीब 19 कंपनियां हिस्सा लेंगी। एग्जीबिशन का मुख्य उद्देश्य यूएई में इम्पोर्टर्स के साथ फोर्ज स्ट्रैटजिक एलियांस इस्टैबिलश करने के साथ ही विश्व स्तर पर भारतीय टेक्सटाइल को पहचान दिलाना है।

यह उद्योग लेंगे हिस्सा
दुबई में होने वाली इस फेयर को सिंथेटिक एंड रेयॉन टेक्सटाइल एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल ऑफ इंडिया (एसआरटीईपीसी) और मैन्युफेक्चर्स एंड एक्सपोर्टर्स ऑफ मैन मेड फाइबर (एमएमएफ) टेक्सटाइल्स दोनों ही मिलकर एंबेसी ऑफ इंडिया इन दुबई और कॉसुलेट जनरल ऑफ इंडिया इन दुबई के सहयोग से एग्जीबिशन को ऑर्गनाइज कर रहे हैं। इसमें विश्व स्तर की जानी मानी कई कंपनियां पार्टिसिपेट कर रही है जिसमें फैब्रिक, सिंथेटिक प्रोडयूसर्स, कॉटन और सेल्यूलॉसिक फाइबर और सिल्क, शूटिंग-शर्टिंग, फर्निशिंग मैटेरियल्स, इंडियन अपरेल्स जैसी कई फेमस कंपनियां इंटरनेशनल लेवल पर अपनी भागीदारी दिखाएंगी। दोनों देशों के बीच टेक्सटाइल्स सेगमेंट को फायदा मिलेगा। खासतौर पर फैब्रिक ट्रेड पर भी इसका फायदा पहुंचेगा।

कपड़ा इंडस्ट्री एक नए राह पर
इंडिया में रेयॉन और सिंथेटिक इंडस्ट्री की बात करें तो यह टेक्सटाइल इंडस्ट्री 579 मिलियन डॉलर का है। 2015-2016 में करीब 150 देशों में इतने बड़े स्तर पर टेक्सटाइल एक्सपोर्ट किया गया है। इसमें एशिया में 25 फीसदी, यूरोपियन यूनियन कंट्रीज में 20 फीसदी और यूएई में 12 फीसदी, 9 फीसदी यूएस से, 8 फीसदी टर्की का एक्सपोर्ट शेयर 2015.2016 के दौरान आंका गया है। जहां तक बात अकेले यूएई के एक्सपोर्ट शेयरिंग की है इस दौरान करीब 17 अरब डॉलर टेक्सटाइल 2015 मे इंडिया से बाहर एक्सपोर्ट किया गया था। इस तरह से आने वाले समय में कपड़ा इंडस्ट्री के एक बड़े उद्योग की तरफ बढ़ रही है।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You