Chaturmas 2022: स्वर्ग के राजा इन्द्र जैसा सुख चाहते हैं तो 4 महीने तक करें ये काम

Edited By Niyati Bhandari,Updated: 06 Jul, 2022 08:35 AM

chaturmas

पदमपुराण के अनुसार जिन दिनों में भगवान विष्णु शयन करते हैं उन चार महीनों को चातुर्मास एवं चौमासा भी कहते हैं। देवशयनी एकादशी से हरिप्रबोधनी एकादशी तक चातुर्मास 15 जुलाई से 11 नवम्बर तक चलेगा,

 
Chaturmas 2022: पदमपुराण के अनुसार जिन दिनों में भगवान विष्णु शयन करते हैं, उन 4 महीनों को चातुर्मास एवं चौमासा भी कहते हैं। देवशयनी एकादशी से हरिप्रबोधनी एकादशी तक चातुर्मास 10 जुलाई से 4 नवम्बर तक चलेगा, इन चार मासों में विभिन्न कर्म करने पर मनुष्य को विशेष पुण्य लाभ की प्राप्ति होती है क्योंकि इन दिनों में किसी भी जीव की ओर से किया गया कोई भी पुण्यकर्म खाली नहीं जाता। वैसे तो चातुर्मास का व्रत देवशयनी एकादशी से शुरु होता है परंतु द्वादशी, पूर्णिमा, अष्टमी और कर्क की सक्रांति से भी यह व्रत शुरु किया जा सकता है।

PunjabKesari Chaturmas 2022, Chaturmas, chaturmas 2022 iskcon, chaturmas 2022 start and end date, chaturmas 2022 end date, chaturmas fasting rules, chaturmas 2022 in hindi, 2022 mein chaturmas kab se shuru ho raha hai, What not to do in Chaturmas, Can marriage be done in Chaturmas, When Chaturmas begins, When Ch
Do these work in chaturmas चार्तुमास के विभिन्न कर्मों का पुण्य फल 
जो मनुष्य इन चार महीनों में मंदिर में झाड़ू लगाते हैं तथा मंदिर को धोकर साफ करते हैं, कच्चे स्थान को गोबर से लीपते हैं, उन्हें सात जन्म तक ब्राह्मण योनि मिलती है।  

जो भगवान को दूध, दही, घी, शहद और मिश्री से स्नान करवाते हैं, वह संसार में वैभवशाली होकर स्वर्ग में जाकर इन्द्र जैसा सुख भोगते हैं। 
  
धूप, दीप, नैवेद्य और पुष्प आदि से पूजन करने वाला प्राणी अक्षय सुख भोगता है।  

तुलसी दल अथवा तुलसी मंजरियों से भगवान का पूजन करने, स्वर्ण की तुलसी ब्राह्मण को दान करने पर परमगति मिलती है।  

गूगल की धूप और दीप अर्पण करने वाला मनुष्य जन्म जन्मांतरों तक धनाढ्य रहता है।  
 
PunjabKesari Chaturmas 2022, Chaturmas, chaturmas 2022 iskcon, chaturmas 2022 start and end date, chaturmas 2022 end date, chaturmas fasting rules, chaturmas 2022 in hindi, 2022 mein chaturmas kab se shuru ho raha hai, What not to do in Chaturmas, Can marriage be done in Chaturmas, When Chaturmas begins, When Ch

पीपल का पेड़ लगाने, पीपल पर प्रति दिन जल चढ़ाने, पीपल की परिक्रमा करने, उत्तम ध्वनि वाला घंटा मंदिर में चढ़ाने, ब्राह्मणों का उचित सम्मान करने, किसी भी प्रकार का दान देने, कपिला गो का दान, शहद से भरा चांदी का बर्तन और तांबे के पात्र में गुड़ भरकर दान करने, नमक, सत्तू, हल्दी, लाल वस्त्र, तिल, जूते, और छाता आदि का यथाशक्ति दान करने वाले जीव को कभी भी किसी वस्तु की कमी जीवन में नहीं आती तथा वह सदा ही साधन संपन्न रहता है।  
 
1100  रुपए मूल्य की जन्म कुंडली मुफ्त में पाएं । अपनी जन्म तिथि अपने नाम , जन्म के समय और जन्म के स्थान के साथ हमें 96189-89025 पर वाट्स ऐप करें

जो व्रत की समाप्ति यानि उद्यापन करने पर अन्न, वस्त्र और शैय्या का दान करते हैं वह अक्षय सुख को प्राप्त करते हैं तथा सदा धनवान रहते हैं। 
  
वर्षा ऋतु में गोपीचंदन का दान करने वालों को सभी प्रकार के भोग एवं मोक्ष मिलते हैं।  

जो नियम से भगवान श्री गणेश जी और सूर्य भगवान का पूजन करते हैं, वह उत्तम गति को प्राप्त करते हैं तथा जो शक्कर का दान करते हैं उन्हें यशस्वी संतान की प्राप्ति होती है।  
 
PunjabKesari Chaturmas 2022, Chaturmas, chaturmas 2022 iskcon, chaturmas 2022 start and end date, chaturmas 2022 end date, chaturmas fasting rules, chaturmas 2022 in hindi, 2022 mein chaturmas kab se shuru ho raha hai, What not to do in Chaturmas, Can marriage be done in Chaturmas, When Chaturmas begins, When Ch

माता लक्ष्मी और पार्वती को प्रसन्न करने के लिए चांदी के पात्र में हल्दी भर कर दान करनी चााहिए तथा भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए बैल का दान करना श्रेयस्कर है।  

चातुर्मास में फलों का दान करने से नंदन वन का सुख मिलता है।  

जो लोग नियम से एक समय भोजन करते हैं, भूखों को भोजन खिलाते हैं, स्वयं भी नियमवद्घ होकर चावल अथवा जौं का भोजन करते हैं, भूमि पर शयन करते हैं उन्हें अक्षय कीर्ती प्राप्त होती है। 
  
इन दिनों में आंवले से युक्त जल से स्नान करना तथा मौन रहकर भोजन करना श्रेयस्कर है। 
PunjabKesari kundlitv
 
 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!