पाकिस्तान में सरकार और सहयोगियों के बीच टकराव, नए PM शहबाज शरीफ की कुर्सी पर लटकी तलवार

Edited By Tanuja,Updated: 21 May, 2022 03:14 PM

paki govt led by pm shehbaz decides to complete tenure until next year

पाकिस्तान में नए प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की कुर्सी पर तलवार लटकी नजर आने लगी है। इसके चलते शहबाज शरीफ के नेतृत्व में बनी गठबंधन...

इस्लामाबाद: पाकिस्तान में नए प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की कुर्सी पर तलवार लटकी नजर आने लगी है। इसके चलते शहबाज शरीफ के नेतृत्व में बनी गठबंधन सरकार का भविष्य भी एक बार फिर अधर में नजर आ रहा है। गुरुवार को कई पार्टियों को मिलाकर बनी सरकार और शक्तिशाली हितधारकों के बीच गंभीर टकराव सामने आए हैं। उधर, इमरान खान के नेतृत्व में विपक्ष ने इस्लामाबाद कूच करने का ऐलान कर सरकार की मुश्किलें और ज्यादा बढ़ा दी हैं। इस विवाद का मुख्य बिंदु मौजूदा सरकार के कार्यकाल की अवधि है।

 

शहबाज शरीफ सरकार कड़े फैसले लेने के लिए तैयार है लेकिन केवल इस शर्त पर कि वह बिना किसी बाधा या साजिश के शेष संवैधानिक कार्यकाल पूरा करेगी।पिछले कुछ दिनों के घटनाक्रम से पता चलता है कि पाकिस्तान सरकार और हितधारकों के बीच गतिरोध न केवल हर गुजरते दिन के साथ दिखाई दे रहा है, बल्कि सरकार की निर्णय लेने की प्रक्रिया में देरी कर रहा है। इस कारण पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था भी प्रभावित हो रही है। इसी कारण गठबंधन सरकार कठिन आर्थिक निर्णय लेने के लिए अनिच्छुक थी, जिसमें ईंधन सब्सिडी को समाप्त करना शामिल था।

 

 इस बीच पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की रैली और राजधानी इस्लामाबाद में धरने के ऐलान ने शहबाज शरीफ की चिंता को और ज्यादा बढ़ा दिया है। इस कारण प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ पिछले कई दिनों से राष्ट्र के नाम अपने संबंधोन को स्थगित करना पड़ा है। PM शहबाज शरीफ इस संबोधन में पाकिस्तान के लिए नई आर्थिक योजना का ऐलान करने वाले हैं। पाकिस्तान के कई राजनीतिक विश्लेषकों ने स्थिति की गंभीरता को बताते हुए दावा किया है कि अगर सरकार में शामिल शक्तिशाली धड़े शेष कार्यकाल को पूरा करने का आश्वासन नहीं देते हैं तो प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ वित्तीय योजना पेश करने के बजाय विधानसभाओं को भंग करने की घोषणा कर सकते हैं।

 

इस बीच मौजूदा स्थिति को ध्यान में रखते हुए सत्तारूढ़ दल के गठबंधन सहयोगियों ने दूसरी बार पीएम शहबाज शरीफ से कहा है कि सरकार सख्त आर्थिक निर्णय लेती है तो वे साथ खड़े होंगे। गुरुवार को पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N) की उपाध्यक्ष मरियम नवाज ने सरगोधा में बोलते हुए एक बड़ा संकेत दिया कि सरकार पिछली तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) सरकार द्वारा कथित रूप से आर्थिक कुप्रबंधन का भार उठाने के बजाय मध्यावधि चुनाव करा सकती है। ईंधन सब्सिडी खत्म करने के सवाल पर मरियम नवाज ने कहा कि नके पिता और तीन बार के पूर्व प्रधान मंत्री नवाज शरीफ का कहना है कि वह सरकार छोड़ देंगे लेकिन लोगों पर बोझ नहीं डालेंगे।

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!