भाजपा का गिरफ्तार आतंकी के पार्टी सदस्य होने से इंकार, राजनीतिक दलों की जांच की मांग की

Edited By Monika Jamwal,Updated: 04 Jul, 2022 10:58 PM

bjp denies arrested terrorist being party member

भारतीय जनता पार्टी ने उन दावों को खारिज कर दिया जिसमें कहा जा रहा है कि प्रदेश के रियासी जिले में गिरफ्तार किया गया लश्कर ए तैयबा का आतंकवादी पार्टी का सदस्य है ।

जम्मू : भारतीय जनता पार्टी ने उन दावों को खारिज कर दिया जिसमें कहा जा रहा है कि प्रदेश के रियासी जिले में गिरफ्तार किया गया लश्कर ए तैयबा का आतंकवादी पार्टी का सदस्य है । कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों ने भगवा दल की आलोचना की और इसकी उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की ।

भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता अभिनव शर्मा ने दावा किया कि गिरफ्तार किया गया आतंकवादी और राजौरी का रहने वाला तालिब हुसैन शाह एक साजिश के तहत न्यूज पोर्टल का रिपोर्टर बन कर पार्टी के कार्यालय में आया था और अपने आका के निर्देश पर पार्टी के नेताओं को निशाना बनाने के लिये उसने टोह ली थी ।

उन्होंने उन दावों को खारिज कर दिया कि शाह जम्मू-कश्मीर के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ का आईटी प्रभारी था । इसके साथ ही भाजपा प्रवक्ता ने पार्टी कार्यालय और नेताओं की सुरक्षा को मजबूत किये जाने की मांग की ।

शर्मा ने कहा, "हमारे आधिकारिक रिकॉर्ड के अनुसार वह पार्टी का न तो प्राथमिक और न ही बेसिक सदस्य था । इसलिये पार्टी का सक्रिय सदस्य होने का कोई सवाल ही पैदा नहीं होता है ।"

उन्होंने कहा, "उसने एक न्यूज पोर्टल का पत्रकार बन कर हमारे मुख्यालय का दौरा किया था और हमारे अध्यक्ष (रविंदर रैना) का साक्षात्कार किया था, जो अपने राष्ट्रवादी विचारों के लिये जाने जाते हैं और खुले तौर पर पाकिस्तान और आतंकवादियों के खिलाफ बोलते हैं ।"

भाजपा नेता ने संवाददाताओं से कहा, "उन्हें कई बार जान से मारने की धमकी मिल चुकी है, शाह का लगातार पार्टी मुख्यालय आना हमारे नेता को निशाना बनाने की साजिश थी ।"

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सोमवार को भाजपा के खिलाफ यहां प्रदर्शन किया और 'आतंकवादियों को सहारा देने' का आरोप लगाया ।

गौरतलब है कि राजौरी में हालिया श्रृंखलाबद्ध विस्फोटों का मास्टरमाइंड शाह को पुलवामा के उसके सहयोगी फैसल अहमद डार के साथ रविवार को तड़के रियासी जिले के दूरस्थ टक्सन ढोक गांव में ग्रामीणों ने धर दबोचा और बाद में उन्हें पुलिस को सौंप दिया। उन लोगों के पास से दो एके राइफल, एक पिस्तौल, सात हथगोले और भारी मात्रा में गोला-बारूद बरामद किया गया है।

तालिब हुसैन शाह और उसके सहयोगी फैसल अहमद डार को ग्रामीणों द्वारा पकड़े जाने तथा पुलिस को सौंपे जाने की खबर आते ही भाजपा की जम्मू कश्मीर इकाई के प्रमुख रविंदर रैना के साथ शाह की कथित तस्वीरें और पार्टी के कार्यक्रमों में उसकी भागीदारी की तस्वीरें सोशल मीडिया पर साझा की गईं। तस्वीरों में से एक में रैना उसे एक गुलदस्ता देते नजर आ रहे हैं, जबकि एक अन्य में पार्टी के नेता शेख बशीर द्वारा जारी एक पत्र में उसे नौ मई को अल्पसंख्यक मोर्चा (जम्मू प्रांत) के नये आईटी एवं सोशल मीडिया प्रभारी की जिम्मेदारी दी गई है।

रैना के साथ मंच साझा करते लश्कर आतंकवादी की तस्वीर हाथों में लेकर कांग्रेस कार्यकर्ता पार्टी मुख्यालय से निकल कर शहीदी चौक की तरफ बढ़े और एक विरोध प्रदर्शन करने की कोशिश की ।

हालांकि, पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को रोक दिया जो बाद में पार्टी मुख्यालय लौट गये । इससे पहले उन्होंने पुलिस घेरा को तोडऩे का असफल प्रयास किया ।

कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष और पूर्व मंत्री रमन भल्ला ने संवाददाताओं से कहा, "शाह भाजपा के आईटी सेल का सक्रिय सदस्य था, इसके लिए किसी साक्ष्य की आवश्यकता नहीं है, लेकिन यह चिंता का विषय है और सुरक्षा में बड़ी चूक है।"

भल्ला ने कहा, "रैना और यहां तक कि गृह मंत्री के साथ शाह की तस्वीरें भाजपा के साथ उसके जुड़ाव के बारे में बताती हैं, जिससे उसे पार्टी में शामिल करने और आईटी तथा मीडिया सेल में एक शीर्ष पद तक पहुंचने में मदद मिली।"

उन्होंने च्च्भाजपा में एक आतंकवादी की मौजूदगी का पता लगाने में खुफिया एजेंसियों की विफलताज्ज् पर सवाल उठाया ।

कांग्रेस नेता ने कहा, "यह एक गंभीर सुरक्षा उल्लंघन और खुफिया एजेंसियों की विफलता है, जिसकी उच्च-स्तरीय जांच करने और कार्रवाई किये जाने की जरूरत है।"

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने सोमवार को आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) 'सांप्रदायिक विभाजन और नफरत' के अपने एजेंडे के लिए आपराधिक तत्वों का इस्तेमाल कर रही है।

महबूबा ने ट्वीट किया, " पहले उदयपुर हत्याकांड का आरोपी और अब राजौरी में पकड़ा गया लश्कर-ए-तैयबा का आतंकवादी, दोनों के भाजपा से सक्रिय संबंध रहे हैं। सत्तारूढ़ पार्टी सांप्रदायिक विभाजन और नफरत के अपने एजेंडे के लिए आपराधिक तत्वों का इस्तेमाल कर रही है, चाहे वे गौरक्षक हों या आतंकवादी।"

उन्होंने कहा कि अगर इन आरोपियों के संबंध किसी विपक्षी नेता से होते तो अभी तक कई प्राथमिकियां दर्ज हो चुकी होतीं।

महबूबा ने कहा, च्च्सोचिए अगर इनमें से कोई अपराधी किसी विपक्षी नेता से जुड़ा होता। अभी तक गई प्राथमिकियां दर्ज हो चुकी होतीं और गोदी मीडिया विपक्ष को बदनाम करने के लिए इस खबर को 'प्राइम टाइम' पर चलाता।"

आम आदमी पार्टी ने भी भाजपा पर निशाना साधा है । पार्टी नेता संजय सिंह ने कहा ," यह न तो संयोग है और न ही कोई प्रयोग।...आतंकवादियों के साथ भाजपा के संबंधों की जांच संयुक्त संसदीय समिति द्वारा की जानी चाहिए।"

सिंह ने कहा,  "एक बहुत ही गंभीर और राष्ट्रीय हित का मुद्दा है।' भल्ला ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी खुद को इस जिम्मेदारी से बचा नहीं सकती है ।

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा जैसे गंभीर मसले पर पार्टी चुप नहीं बैठेगी ।

भाजपा प्रवक्ता अभिनव शर्मा ने इस बीच कहा कि जो पत्र सर्कुलेट हो रहा है जिसे कथित रूप से शेख बशीर ने जारी किया है, उसकी जांच की जा रही है।

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!