चाणक्य नीति: इस प्रकार की महिलाअों से बनाकर रखें दूरी

  • चाणक्य नीति: इस प्रकार की महिलाअों से बनाकर रखें दूरी
Thursday, September 08, 2016-10:39 AM

राजनीति और कूटनीतिज्ञ के पितामाह आचार्य चाणक्य ने बहुत सारी नीतियों का निर्माण किया है। उन्होंने अपने जीवन से संबंधित अनुभवों का उल्लेख चाणक्य नीति में किया है। जिन पर अमल करके व्यक्ति खुशहाल जीवन यापन कर सकता है। चाणक्य के अनुसार दुनिया की सबसे बड़ी ताकत पुरुष का विवेक अौर महिला का सौंदर्य है। उन्होंने कुछ ऐसी महिलाअों के स्वभाव के बारे में बताया है जिनसे दूर रहने में ही भलाई है।


दुष्ट प्रवृति वाली महिला

चाणक्य के अनुसार दुष्ट प्रवृत्ति वाली महिला से दूर रहना चाहिए। उसके साथ रहने वाले लोगों का जीवन सदैव ही संकटों से भरा रहता है। ऐसे स्वभाव वाली स्त्री के पति का जीवन मृत्यु के समान व्यतीत होता है। 

 

स्वार्थी महिला

जो महिलाएं अपने स्वार्थ के लिए किसी पुरुष के साथ रहती हों तो इस प्रकार की स्त्रियों को छोड़ देना चाहिए। ऐसी महिलाएं अपने फायदे के लिए कुछ भी कर सकती हैं अौर अपना मतलब पूरा होने तक ही साथ रहती हैं। स्वार्थी महिला तब तक ही दूसरों के साथ अच्छा व्यवहार करती है जब तक उसका स्वार्थ पूरा नहीं हो जाता।  

 

कुसंस्कारी

जो महिला कुसंस्कारी, चरित्रहीन हो उससे भी दूर रहना हितकर होता है। भले ही ऐसी स्त्री सुंदर होे लेकिन उनसे दूर रहना चाहिए। जिस महिला का चरित्र ठीक नहीं होता वह पुरुषों को अपनी अोर आकर्षित करती हैं। इनसे विवाह नहीं करना चाहिए। चाणक्य के अनुसार जो महिला धार्मिक, कार्य में निपुण, सत्यनिष्ठ अौर पतिव्रता हो वही महिला अच्छी है। इस प्रकार की महिला सुंदर न भी हो तो उससे विवाह कर लेना चाहिए।

 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You