हरियाली अमावस्या: सूर्योदय-सूर्यास्त पर करें ये उपाय, भर जाएंगे धन के भंडार

  • हरियाली अमावस्या: सूर्योदय-सूर्यास्त पर करें ये उपाय, भर जाएंगे धन के भंडार
You Are HereDharm
Saturday, July 22, 2017-10:23 AM

23 जुलाई, रविवार को सावन मास की अमावस्या है। इसे हरियाली अमावस्या के नाम से भी जाना जाता है। इस रोज किए गए उपाय, राह में आ रहे कंटकों का नाश करते हैं। विशेषतौर पर काली रात में किए गए उपाय 


सूर्यास्त के बाद खीर बनाकर भगवान शिव को भोग लगा कर गरीबों में बांट दें।


रात को घर के मुख्यद्वार पर दोनों तरफ दीपक प्रज्जवलित करें।


शाम 5 बजे के बाद हनुमान जी के समक्ष चमेली के तेल का दीपक जलाकर श्री राम के ध्यान मंत्र का जाप करें।


ॐ आपदामप हर्तारम दातारं सर्व सम्पदाम ,

लोकाभिरामं श्री रामं भूयो भूयो नामाम्यहम !

श्री रामाय रामभद्राय रामचन्द्राय वेधसे ,

रघुनाथाय नाथाय सीताया पतये नमः !


काले कुत्ते को सरसों का तेल लगाकर रोटी खिलाएं।


तुलसी के पास दीपक लगाएं।


हरियाली अमावस्या की सुबह करें ये उपाय- इस दिन सुबह पौधे लगाना बहुत शुभ माना गया है। मान्यता के अनुसार, इस रोज प्रत्येक व्यक्ति को एक पौधा अवश्य रोपित करना चाहिए। हिंदू धार्मिक मान्यता है की पेड़-पौधों में देवी-देवताओं का वास  है। किस्मत चमकाने से लेकर और घर में सुख-शांति स्थापित करने तक हर इच्छा होगी पूरी।


इन पौधों को लगाएं
धन प्राप्ति के लिए:
तुलसी, आंवला, केला और बिल्वपत्र।


समृद्धि प्राप्ति के लिए: अशोक, अर्जुन, नारियल और बरगद (वट)।


वंश वृद्धि के लिए: पीपल, नीम, बिल्व, नागकेशर, गुड़हल और अश्वगन्धा।


कुशाग्र बुद्धि के लिए: आंकड़ा, शंखपुष्पी, पलाश, ब्राह्मी और तुलसी।


आनंद प्राप्ति के लिए: नीम, कदम्ब और घनी छायादार पेड़ लगाएं।


प्रसन्नता प्राप्ति के लिए: हरसिंगार (पारिजात) रातरानी, मोगरा और गुलाब लगाएं।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You