Sawan 2022: सावन के पहले शुक्रवार मां लक्ष्मी करेंगी धन की बरसात

Edited By Niyati Bhandari,Updated: 15 Jul, 2022 07:44 AM

sawan friday

सावन का महीना मूल रूप से शिव और शक्ति के युग्म का महीना है अर्थात पौरुष और प्रकृति का मिलन। ये माह शक्ति और शिव साधना हेतु सर्वोत्तम माना गया है।

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

Friday Puja in Shravan Month: सावन का महीना मूल रूप से शिव और शक्ति के युगम का महीना है अर्थात पौरुष और प्रकृति का मिलन। ये माह शक्ति और शिव साधना हेतु सर्वोत्तम माना गया है। शक्ति के अनेक रूपों में जगत प्रसूता माता महालक्ष्मी का सर्वोच्च स्थान है। लक्ष्मी के आठ स्वरूपों में से धन लक्ष्मी का स्थान हर व्यक्ति के लिए महत्वपूर्ण है। जो व्यक्ति अपने जीवन में कमाते तो बहुत हैं परंतु अधिक कमाई के पश्चात भी धन का संचय नहीं कर पाते हैं अर्थात धन की बचत नही कर पते वो सावन के इस शुक्रवार करें संचित लक्ष्मी का ये सरल उपाय। इस सरल उपाय से आपके संचित धन में वृद्धि होगी। घर में कभी पैसे की कमी नहीं आएगी। धन धान्य और वैभव से भरा रहेगा आपका घर।

PunjabKesari Friday Puja in Shravan Month
How do Laxmi puja on Friday: रात-दिन मेहनत करके इतना धन तो अर्जित किया जा सकता है कि अपना व परिवार का भरण-पोषण हो जाए परन्तु करोड़ों की दौलत तो केवल भाग्य से ही मिलती है। अनेक अतियोग्य, मेधावी व मेहनती व्यक्ति जीवन भर छोटी-मोटी नौकरी ही करते रहते हैं, छोटा सा मकान बनाने तक का उनका सपना पूरा नहीं होता। दूसरी तरफ अनेक अयोग्य व्यक्ति लाखों रुपए प्रतिमाह अर्जित करते हैं व इसका एकमात्र कारण यही है कि धन की देवी लक्ष्मी जी की उन पर भरपूर कृपा है। लक्ष्मी की कृपा व भरपूर धन प्राप्त करने हेतु बड़ी-बड़ी तांत्रिक साधनाएं प्राचीनकाल से ही संपूर्ण विश्व में प्रचलित रही हैं। धर्म में लक्ष्मी पूजन के साथ ही कई प्रकार के यन्त्रों व मंत्रों की साधना प्राचीनकाल से होती रही है।

PunjabKesari Friday Puja in Shravan Month

1100  रुपए मूल्य की जन्म कुंडली मुफ्त में पाएं । अपनी जन्म तिथि अपने नाम , जन्म के समय और जन्म के स्थान के साथ हमें 96189-89025 पर वाट्स ऐप करें

PunjabKesari Friday Puja in Shravan Month
Goddess Lakshmi Puja in Shravan Month: श्रावण मास के शुक्रवार पर धन लक्ष्मी के पूजन का बड़ा महत्व है। लक्ष्मी जी को प्रसन्न करने हेतु श्रावण मास में भक्तगण अनेकों प्रकार से पूजन करते हैं। देवी लक्ष्मी किए गए विधिवत पूजन से जल्दी प्रसन्न होती हैं व प्रसन्न होकर भक्तों की इच्छा पूर्ण करती हैं। श्रावण मास के समस्त शुक्रवार व्रत करने से पूरे साल भर घर-संसार धन से भरा रहता है। इस दिन प्रसाद के रूप में जल, दूध, दही, शहद, घी, चीनी, जनेऊ, चंदन, बिल्वगिरि, कमलगट्टा, धूप, दीप और दक्षिणा के साथ लक्ष्मी जी का पूजन किया जाता है। रात्रिकाल में घी व कपूर सहित धूप की आरती करके लक्ष्मी का गुणगान किया जाता है। सदगृहस्थ नौकरी पेशा या व्यापारी को श्रावण शुक्रवार व्रत करने से धन-धान्य और लक्ष्मी की वृद्धि होती है। 

PunjabKesari Friday Puja in Shravan Month
Maa Laxmi Friday Upay: उपाय: शुक्रवार के दिन संध्या के समय सफेद कपड़े पहनें, किसी शिवालय में जाकर अथवा घर में रखे पारद शिवलिंग का पूजन करें। शुद्ध घी का दीपक जलाएं, गुलाबी फूल अर्पित करें। गुलाब की अगरबत्ती जलाएं। सफ़ेद चंदन अर्पित करें। इत्र अर्पित करें। शक्करपारे चढ़ाएं। इसके पश्चात सफ़ेद चंदन अथवा कमलगट्टे की माला से उत्तर दिशा की ओर मुख करके 108 बार इस मंत्र का जाप करें।

Maa Laxmi mantra मंत्र: ॐ महालक्ष्म्यै च विद्महे विष्णुपत्न्यै च धीमहि तन्नो लक्ष्मी प्रचोदयात्।। 

इस सरल उपाय से आपका धन निश्चित रूप से संचित होगा। इस साधना से घर-परिवार में सुख-समृद्धि रहती है और भात के भंडार सदैव अन्न और धन से भरे रहते हैं। 

PunjabKesari kundli

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!