​​​​​​​Sharad Purnima: शरद पूर्णिमा पर पाएं मां लक्ष्मी का विशेष आशीर्वाद

Edited By Niyati Bhandari,Updated: 29 Sep, 2022 09:08 AM

sharad purnima

हमारे शास्त्रों में शरद पूर्णिमा का विशेष महत्व बताया गया है। इसे कोजागरी पूर्णिमा या रास पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है। इसे कौमुदी उत्सव, कुमार उत्सव, शरदोत्सव और

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

Sharad Purnima 2022: हमारे शास्त्रों में शरद पूर्णिमा का विशेष महत्व बताया गया है। इसे कोजागरी पूर्णिमा या रास पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है। इसे कौमुदी उत्सव, कुमार उत्सव, शरदोत्सव और कमला पूर्णिमा भी कहते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार पूरे साल में से सिर्फ शरद पूर्णिमा के दिन ही चंद्रमा अपनी सोलह कलाओं से परिपूर्ण होता है। ऐसी धार्मिक मान्यता भी है कि इस दिन आसमान से अमृत वर्षा होती है। शरद पूर्णिमा के दिन चंद्रमा की विशेषतौर पर पूजा होती है।

PunjabKesari Sharad Purnima, 2022 Sharad Purnima, Kojagiri Purnima, Kojagiri Purnima 2022, What should we do on Kojagiri Poornima, 2022 Sharad Purnima, kojagiri purnima in hindi, Is Sharad Purnima auspicious, What can we eat on Sharad Purnima

1100  रुपए मूल्य की जन्म कुंडली मुफ्त में पाएं। अपनी जन्म तिथि अपने नाम, जन्म के समय और जन्म के स्थान के साथ हमें 96189-89025 पर व्हाट्सएप करें

Sharad Purnima Laxmi pujan: देश भर में शरद पूर्णिमा का त्योहार काफी धूम-धाम के साथ मनाया जाता है। कई जगह लक्ष्मी जी के साथ-साथ भगवान विष्णु जी की भी पूजा की जाती है। शरद पूर्णिमा पर चंद्रमा पृथ्वी के सबसे निकट होता है। अंतरिक्ष के समस्त ग्रहों से निकलने वाली सकारात्मक ऊर्जा चंद्र किरणों के माध्यम से पृथ्वी पर पड़ती हैं। शरद पूर्णिमा के दिन खुले आसमान के नीचे खीर बनाकर रखी जाती है और रात के एक पहर के बाद लक्ष्मी जी को इस खीर का भोग लगाया जाता है।

PunjabKesari ​​​​​​​Sharad Purnima, 2022 Sharad Purnima, Kojagiri Purnima, Kojagiri Purnima 2022, What should we do on Kojagiri Poornima, 2022 Sharad Purnima, kojagiri purnima in hindi, Is Sharad Purnima auspicious, What can we eat on Sharad Purnima

Kheer on Sharad Purnima: पूर्णिमा की चांदनी में खीर बनाकर खुले आसमान के नीचे रखने के पीछे वैज्ञानिक तर्क यह है कि चंद्रमा के औषधीय गुणों से युक्त किरणें पड़ने से खीर भी अमृत के समान हो जाएगी। उसका सेवन करना स्वास्थ्य के लिए लाभप्रद होगा। जिन स्थानों पर देवी दुर्गा की प्रतिमा स्थापित होती है, वहां लक्ष्मी पूजन का विशेष आयोजन होता है।

PunjabKesari ​​​​​​​Sharad Purnima, 2022 Sharad Purnima, Kojagiri Purnima, Kojagiri Purnima 2022, What should we do on Kojagiri Poornima, 2022 Sharad Purnima, kojagiri purnima in hindi, Is Sharad Purnima auspicious, What can we eat on Sharad Purnima

What is done on Sharad Purnima: हमारे शास्त्रों के अनुसार शरद पूर्णिमा से कार्तिक पूर्णिमा तक नित्य आकाशदीप जलाने और दीपदान करने से दुख-दरिद्रता का नाश होता है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार शरद पूर्णिमा की निशा में ही भगवान श्रीकृष्ण ने यमुना तट पर गोपियों के साथ महारास रचाया था इसलिए इसी दिन से कार्तिक मास के यम नियम, व्रत और दीपदान भी शुरू हो जाते हैं।

गुरमीत बेदी
9418033344

PunjabKesari kundlitv

Related Story

Pakistan

137/8

20.0

England

138/5

19.0

England win by 5 wickets

RR 6.85
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!