Lok Sabha Election 2024: 12 राज्यों में तीसरे चरण का चुनाव प्रचरा थमा, 7 मई को 92 सीटों पर होगा मतदान

Edited By Yaspal,Updated: 05 May, 2024 06:35 PM

lok sabha election 2024 campaigning for the third phase in 12 states ended

चुनावी महापर्व के तीसरे चरण में रविवार को 92 सीटों पर चुनाव प्रचार समाप्त हो गया है। तीसरे चरण में 12 राज्यों की 92 सीटों पर वोट डाले जाएंगे। तीसरे चरण में उत्तर प्रदेश की 10 सीटें, बिहार की पांच सीटें, मध्य प्रदेश की आठ सीटों, पश्चिम बंगाल की चार...

नेशनल डेस्कः चुनावी महापर्व के तीसरे चरण में रविवार को 92 सीटों पर चुनाव प्रचार समाप्त हो गया है। तीसरे चरण में 12 राज्यों की 92 सीटों पर वोट डाले जाएंगे। तीसरे चरण में उत्तर प्रदेश की 10 सीटें, बिहार की पांच सीटें, मध्य प्रदेश की आठ सीटों, पश्चिम बंगाल की चार सीटों, महाराष्ट्र में 11 सीटों, कर्नाटक में 14 सीटों, गुजरात की 26 सीटों, छत्तीसगढ़ की 7 सीटों पर मतदान होगा।

उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण के लिए प्रचार रविवार शाम छह बजे समाप्त हो गया। इस चरण में 10 सीट पर मतदान होगा। उत्तर प्रदेश की संभल, हाथरस, आगरा, फतेहपुर सीकरी, फिरोजाबाद, मैनपुरी, एटा, बदायूं, आंवला और बरेली संसदीय सीट पर सात मई को तीसरे चरण में मतदान होगा। इस चरण में 100 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला 1.88 करोड़ मतदाता करेंगे। इनमें एक करोड़ से अधिक पुरुष मतदाता और 87 लाख से अधिक महिला मतदाता शामिल हैं। तीसरे चरण में केंद्रीय मंत्री एस. पी. सिंह बघेल (आगरा), उत्तर प्रदेश के पर्यटन मंत्री जयवीर सिंह (मैनपुरी) और राजस्व राज्य मंत्री अनूप प्रधान वाल्मीकि (हाथरस) की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। लोकसभा चुनाव का यह चरण समाजवादी पार्टी (सपा) के यादव परिवार के लिए भी महत्वपूर्ण है।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव मैनपुरी लोकसभा सीट पर अपना कब्जा बरकरार रखने के लिये प्रयास कर रही हैं, जिसे उन्होंने अपने ससुर और सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के निधन के बाद हुए उपचुनाव में जीता था। सपा के मुख्य राष्ट्रीय महासचिव राम गोपाल यादव के बेटे अक्षय यादव फिरोजाबाद सीट से फिर से मैदान में हैं। इस सीट से उन्होंने 2014 में चुनाव जीता था। आदित्य यादव सपा का गढ़ मानी जाने बदायूं लोकसभा सीट से अपने चुनावी करियर की शुरुआत कर रहे हैं। 2014 में बदायूं सीट पर आदित्य के चचेरे भाई धर्मेंद्र यादव ने जीत हासिल की थी।

तीसरे चरण के चुनाव में उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के दिग्गज नेता रहे कल्याण सिंह के बेटे राजवीर सिंह एटा से हैट्रिक बनाने की उम्मीद कर रहे हैं। बरेली में मुख्य मुकाबला भाजपा के छत्रपाल सिंह गंगवार और सपा के प्रवीण सिंह ऐरन के बीच है। इस सीट पर बसपा उम्मीदवार मास्टर छोटे लाल गंगवार का नामांकन पत्र खारिज हो गया है। तीसरे चरण में जिन 10 लोकसभा सीट पर मतदान हो रहा है, उनमें से भाजपा ने इस बार पांच नए चेहरों को टिकट दिया है जिनमें बरेली से छत्रपाल सिंह गंगवार (संतोष गंगवार की जगह), बदायूं से दुर्विजय सिंह शाक्य (संघमित्रा मौर्य की जगह), हाथरस से अनूप प्रधान वाल्मीकि (राजवीर सिंह दिलेर की जगह), फिरोजाबाद से विश्वदीप सिंह (चंद्रसेन जादौन की जगह) और मैनपुरी लोकसभा सीट से जयवीर सिंह को पहली बार प्रत्याशी बनाया गया है।

भाजपा ने एटा, आगरा, आंवला और फतेहपुर सीकरी से मौजूदा सांसदों पर फिर से दांव लगाया गया है। दल ने संभल लोकसभा सीट से परमेश्वर लाल सैनी को टिकट दिया है। तीसरे चरण में कांग्रेस ने फतेहपुर सीकरी से रामनाथ सिंह सिकरवार को मैदान में उतारा है, जबकि उसके सहयोगी दल समाजवादी पार्टी ने बाकी नौ संसदीय क्षेत्रों से अपने उम्मीदवार उतारे हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इन निर्वाचन क्षेत्रों में भाजपा उम्मीदवारों के लिए ताबड़तोड़ जनसभाएं कीं। उन्होंने 26 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ बरेली में रोड शो में भी भाग लिया।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दो मई को बरेली, बदायूं और सीतापुर में चुनावी रैलियों को संबोधित किया और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर हमला करते हुए कहा कि कांग्रेस को चुनावों में इतनी बड़ी हार मिलेगी कि राहुल गांधी को 'कांग्रेस ढूंढो यात्रा' पर जाना पड़ेगा। बरेली में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि राहुल, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा और सपा प्रमुख अखिलेश यादव अयोध्या में राम मंदिर के अभिषेक समारोह में शामिल नहीं हुए, क्योंकि उन्हें डर था कि उनके जाने से उनका वोट बैंक छिटक सकता है।

शाह ने समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि यह वंशवाद की राजनीति करती है, क्योंकि इसके अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मौजूदा चुनाव में अपने परिवार के पांच सदस्यों को टिकट दिया है। शाह ने कहा, "अगर उन्होंने कुछ अन्य यादव युवाओं को टिकट दिया होता, तो यह बेहतर होता।" समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी तीसरे चरण में अपने पार्टी उम्मीदवारों के लिए व्यापक प्रचार किया। वरिष्ठ सपा नेता शिवपाल यादव ने अपने बेटे आदित्य यादव के लिए वोट मांगे। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की प्रमुख मायावती ने भी अपनी पार्टी के उम्मीदवारों के पक्ष में प्रचार किया। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने तीन मई को पार्टी उम्मीदवार रामनाथ सिंह सिकरवार के पक्ष में समर्थन जुटाने के लिए फतेहपुर सीकरी में रोड शो किया।

Related Story

Afghanistan

134/10

20.0

India

181/8

20.0

India win by 47 runs

RR 6.70
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!