ज्यूडीशियरी पर मुझे पूरा विश्वास है, न्याय जरूर मिलेगा : संजय पोपली

Edited By Ajay Chandigarh,Updated: 27 Jun, 2022 08:48 PM

sanjay popli lit his son s car on his shoulder

ज्यूडीशियरी पर मुझे पूरा विश्वास है, न्याय जरूर मिलेगा, मैं बेटे के संस्कार पर आया हूं, इससे ज्यादा कुछ नहीं कह सकता। आंखों से आंसू टपकते हुए रिश्वत मामले में गिरफ्तार पंजाब के आई.ए.एस. संजय पोपली ने सैक्टर-25 स्थित बेटे के संस्कार के बाद यह बात...

चंडीगढ़,(सुशील राज): ज्यूडीशियरी पर मुझे पूरा विश्वास है, न्याय जरूर मिलेगा, मैं बेटे के संस्कार पर आया हूं, इससे ज्यादा कुछ नहीं कह सकता। आंखों से आंसू टपकते हुए रिश्वत मामले में गिरफ्तार पंजाब के आई.ए.एस. संजय पोपली ने सैक्टर-25 स्थित बेटे के संस्कार के बाद यह बात कही। उन्होंने अपनी पत्नी को गले लगाते हुए कहा कि हौसला रखो जल्द ही सबकुछ ठीक हो जाएगा। इसके बाद पंजाब पुलिस के जवान संजय पोपली को बलैरो गाड़ी में बैठाकर जेल वापस ले गए। वहीं पोस्टमार्टम करने वाले पैनल ने पुलिस को बताया कि कार्तिक की मौत गोली सिर के पार होने से हुई है। उसका खून ज्यादा बह गया था। 

 


शनिवार को सैक्टर-11 स्थित कोठी की पहली मंजिल पर गोली मारने वाले कार्तिक पोपली का पोस्टमार्टम सोमवार दोपहर ए.डी.सी. के नेतृत्व में डाक्टरों के पैनल ने पी.जी.आई. में शुरू किया। पोस्टमार्टम करीब साढ़े चार बजे तक चला। सैक्टर-11 थाना पुलिस ने कार्तिक पोपली का पोस्टमार्टम होने के बाद शव को उसकी मां श्री पोपली के हवाले किया। शव देने से पहले सैक्टर-11 थाना पुलिस ने श्री पोपली से कागजी कार्रवाई और उसके हस्ताक्षर किए। करीब पांच बजे श्री पोपली अपने रिश्तदारों के साथ बेटे के शव को एबुलैंस में लेकर पी.जी.आई. से सैक्टर-25 स्थित शमशानघाट पहुंची। वहां पर पहले ही पंजाब पुलिस के जवान संजय पोपली को पटियाला जेल से सैक्टर-25 स्थित शमशानघाट लेकर आए हुए थे।

 


नम आंखों से बेटे की अर्थी को सहारा देखकर किया संस्कार 
बेटे कार्तिक का चेहरा देखकर आई.ए.एस. संजय पोपली के आंसू थमने के नाम नहीं ले रहे थे। वह बेटे को देखकर रोने लगा हुआ था। संस्कार की सारी रस्म संजय पोपली ने की। वह बेटे की अर्थी को कंधा देकर चिता तक लेकर गए। वहां पर मुखाग्रि दी। इस दौरान पिता और अन्य परिजन रोने में लगे हुए थे। कार्तिक के संस्कार के दौरान पंजाब के कई आई.ए.एस. आए हुए थे, लेकिन किसी ने संजय पोपली से ज्यादा बात नहीं की। सभी लोग आई.ए.एस. संजय पोपली की पत्नी श्री पोपली को दिलासा देने में लगे हुए थे। 
 

 

डाक्टरों के बोर्ड ने पी.जी.आई. में किया पोस्टमार्टम 
कार्तिक पोपली का पोस्टमार्टम करवाने के लिए पुलिस टीम सुबह नौ बजे सैक्टर-16 जनरल अस्पताल की मोर्चरी में पहुंच गई थी। पुलिस मोर्चरी से शव पी.जी.आई. करीब साढ़े नौ बजे पहुंची। कार्तिक के शव को पी.जी.आई. की मोर्चरी में रखवा दिया। इस दौरान कार्तिक की मां श्री पोपली अपने रिश्तदारों के साथ कार में बैठी रही। पोस्टमार्टम ए.डी.सी. के नेतृत्व में करवाने के आला अफसरों ने आदेश जारी किए। परिजन मोर्चरी के बाहर बैठकर ए.डी.सी. ओर तहसीलदार के आने का इंतजार करने लगे। करीब दोपहर अढ़ाई बजे कार्तिक के शव का पोस्टमार्टम शुरू हुआ। बेटे का शव लेते ही मां श्री पोपली ने उसका सिर चूमा और रोने लगी।  
 

 

शनिवार दोपहर कार्तिक ने गोली मारकर किया था सुसाइड 
रिश्वत मामले में गिरफ्तारी संजय पोपली को शनिवार विजिलैंस टीम सैक्टर-11 स्थित कोठी पर लेकर आई थी। इस दौरान कार्तिक और विजिलैंस टीम की बहस हुई थी। आरोप था कि विजिलैंस टीम गिरफ्तार आई.ए.एस. संजय पोपली पर परिजनों पर दवाब डालकर खाली पेज पर साइन करवाना चाहती थी। बहस के बाद कार्तिक पहली मंजिल स्थित कमरे पर गया और चंद मिनट बाद ही गोली मार ली थी। सैक्टर-11 थाना पुलिस ने कार्तिक द्वारा गोली मारना सुसाइड बताया था। 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!