Janmashtami: हर काम में सफलता और बाल गोपाल जैसा पुत्र देता है ये पाठ

Edited By Niyati Bhandari,Updated: 18 Aug, 2022 09:44 AM

shri krishna chalisa

भारत वर्ष में आए दिन कोई न कोई त्यौहार मनाया जाता है। त्योहारों के बिना हम भारतवर्ष की कल्पना भी नहीं कर सकते है। हिंदू धर्म में व्रत-त्योहारों को बेहद ही खास माना जाता है, उन्हीं में से एक कृष्ण जन्माष्टमी

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

Sri Krishna Janmashtami 2022: भारत वर्ष में आए दिन कोई न कोई त्यौहार मनाया जाता है। त्योहारों के बिना हम भारतवर्ष की कल्पना भी नहीं कर सकते है। हिंदू धर्म में व्रत-त्योहारों को बेहद ही खास माना जाता है, उन्हीं में से एक कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व है। यह पर्व देश भर में बड़ी धूमधाम और उल्लास से मनाया जाता है। इस दिन भक्त पूजा-पाठ करते हैं, उपवास रखते हैं और जन्माष्टमी पर रात्रि जागरण किया जाता है। आप भी श्रीकृष्ण का आशीर्वाद पाना चाहते हैं या सफलता और पुत्र प्राप्ति का स्वाद चखना चाहते हैं तो जन्माष्टमी के शुभ अवसर पर भगवान कृष्ण की पूजा के साथ-साथ श्रीकृष्ण चालीसा का पाठ जरूर करें।

PunjabKesari Shri Krishna Chalisa

1100  रुपए मूल्य की जन्म कुंडली मुफ्त में पाएं। अपनी जन्म तिथि अपने नाम, जन्म के समय और जन्म के स्थान के साथ हमें 96189-89025 पर व्हाट्सएप करें
 
Krishna Janmashtami 2022: जीवन में हर व्यक्ति अपने सपनों को पूरा कर सफलता की सीढ़ियां चढ़ना चाहता है। सफलता के पीछे मेहनत और किस्मत दोनों का ही हाथ हैं, अब अगर आप मेहनत कर रहे हैं, फिर भी सफलता नहीं मिल रही तो आप जन्माष्टमी के दिन श्रीकृष्ण चालीसा का पाठ जरुर करें और अपनी सोई हुई किस्मत को जगाएं। श्रीकृष्ण को प्रसन्न करके अपने सफलता के दरवाजे की खोई हुई चाबी को हासिल कर सकते हैं, इतना ही नहीं पुत्र प्राप्ति की कामना रखने वाले दंपति को कृष्ण जन्माष्टमी का व्रत जरूर रखना चाहिए। अगर आपको पुत्र प्राप्ति में कठिनाई आ रही है तो श्रीकृष्ण चालीसा का पाठ करके अपने जीवन में नई खुशियां ला सकते हैं।

PunjabKesari Shri Krishna Chalisa
 
Shri Krishna Chalisa: हिंदू धर्म के अनुसार श्री कृष्ण का जन्म भाद्रपद मास की शुक्ल पक्ष की अष्टमी पर रोहिणी नक्षत्र में हुआ था । इस दिन हर वर्ष कृष्ण जन्माष्टमी मनाई जाती है। यह मान्यता है कि व्रत करने से व्यक्ति को साल भर के व्रतों से भी अधिक शुभ फल प्राप्त होते हैं। कृष्ण जन्माष्टमी के दिन श्री कृष्ण चालीसा पाठ करने से भगवान श्री कृष्ण की विशेष कृपा बनी रहती है साथ ही जीवन के सभी दुख और समस्याएं समाप्त हो जाती हैं। कृष्ण जन्माष्टमी को श्री कृष्ण के जन्मोत्सव के रूप में मनाया जाता है। जन्माष्टमी के दिन भगवान श्री कृष्ण के बाल स्वरूप कृष्ण गोपाल की पूजा करने का विधान है। कृष्ण जन्माष्टमी की पूजा रात में 12 बजे की जाती है क्योंकि भगवान श्री कृष्ण का जन्म रात में ही हुआ था। कृष्ण जन्माष्टमी के दिन संपूर्ण श्री कृष्ण की चालीसा का पाठ करने पर विशेष और बहुमूल्य फलों की प्राप्ति होती है। 
 
Acharya Pradiep Siingla
Astro-Numerologist & Vastu Consultant
pradiepsiingla@gmail.com

PunjabKesari kundli

 

Related Story

Trending Topics

Pakistan

England

Match will be start at 02 Oct,2022 09:30 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!