यूक्रेन जंग का फायदा उठा रहा चीन, रूस से तेल-गैस और कोयले की खरीद में की बढ़ौतरी

Edited By Tanuja, Updated: 23 May, 2022 01:55 PM

china quietly increases purchases of low priced russian oil

चीन अपनी कुटिल नीतियों के चलते हमेशा दूसरे देशों पर आए संकट का लाभ उठाता रहा है। यही वजह है कि चीन अब रूस और यूक्रेन के बीच  जंग का भी...

बीजिंगः चीन अपनी कुटिल नीतियों के चलते हमेशा दूसरे देशों पर आए संकट का लाभ उठाता रहा है। यही वजह है कि चीन अब रूस और यूक्रेन के बीच  जंग का भी फायदा उठाने में लगा है। चीन ने धीरे-धीरे रूस से गैस और तेल का आयात बढ़ा दिया है। रायटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक चीन ने रूस से तेल, गैस और कोयले की खरीद में 75 प्रतिशत की बढ़ौतरी की है। पिछले एक साल के मुकाबले चीन ने 80 प्रतिशत से ज्यादा नेचुरल गैस खरीदा है।

 

घरेलू स्तर पर मांग कम होने के बावजूद चीन लगातार रूस से गैस और तेल खरीद रहा है। यूक्रेन में चल रहे संघर्ष के परिणामस्वरूप कई पश्चिमी देशों ने तेल की खरीद के मामले में रूस के साथ अपना व्यापार बंद कर दिया है। अमेरिका और पश्चिमी देश मिलकर रूस के साथ तेल और गैस के आय़ात को पूरी तरह रोकना चाहते हैं ताकि रूसी अर्थव्यवस्था की कमर तोड़ी जा सके। इससे रूसी अर्थव्यवस्था को एक झटका लगा है। हालांकि व्लादिमीर पुतिन ने इसकी काट ढूंढने में लगे हैं और अपने कच्चे तेल को चीन को बेचकर स्थिति को नियंत्रित करने में लगे हैं।

 

हालांकि कोरोना और लॉकडाउन की वजह से पहले ही चीन में तेल की मांग काफी कम है, इसके बावजूद चीन अब इसे स्टॉक करने में लगा हुआ है। चीन को पता है कि इस समय रूस से वो काफी फायदा उठा सकता है।  रिपोर्ट के मुताबिक चीन का तेल आयात लगभग 1.1 मिलियन बैरल प्रति दिन तक जा सकता है। जबकि यह पहली तिमाही में साढ़े सात लाख बैरल प्रतिदिन था। रिपोर्ट के मुताबिक यह खरीदारी एशिया के शीर्ष रिफाइनर सिनोपेक कॉर्प की व्यापारिक शाखा यूनिपेक और चीन के रक्षा समूह नोरिन्को की एक इकाई जेनहुआ ऑयल द्वारा की जा रही है।

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!