NGO टेरर फंडिंग मामला: NIA का एक्शन, जम्मू-कश्मीर से एक शख्स गिरफ्तार

Edited By Seema Sharma,Updated: 21 Mar, 2023 03:55 PM

ngo terror funding case nia action

राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (NIA) ने आतंकवाद के वित्तपोषण से संबंधित एक गैर सरकारी संगठन (NGO) से जुड़े मामले में चल रही जांच के सिलसिले में एक मानवाधिकार कार्यकर्ता के करीबी सहयोगी को गिरफ्तार किया है।

श्रीनगर: राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (NIA) ने आतंकवाद के वित्तपोषण से संबंधित एक गैर सरकारी संगठन (NGO) से जुड़े मामले में चल रही जांच के सिलसिले में एक मानवाधिकार कार्यकर्ता के करीबी सहयोगी को गिरफ्तार किया है। NIA के एक प्रवक्ता के मुताबिक अक्तूबर 2020 में दर्ज NGO आतंकवाद के लिए वित्त पोषण मामले की व्यापक जांच के बाद श्रीनगर का इरफान मेहराज पहला आरोपी है, जिसे गिरफ्तार किया गया है। एनआईए के प्रवक्ता ने कहा, ‘‘इरफान मेहराज (मानवाधिकार कार्यकर्ता) खुर्रम परवेज का करीबी सहयोगी था और उसके संगठन, जम्मू-कश्मीर नागरिक समूह गठबंधन (JKCCS) के साथ काम कर रहा था।

 

एजेंसी ने आरोप लगाया कि जांच से पता चला है कि जेकेसीसीएस आतंकवादी गतिविधियों को वित्तपोषित कर रहा था और मानवाधिकारों की सुरक्षा की आड़ में घाटी में अलगाववादी एजेंडे का प्रचार भी कर रहा था। प्रवक्ता ने कहा, ‘‘इस मामले में घाटी के कुछ गैर सरकारी संगठनों, ट्रस्टों और सोसाइटियों के आतंकवाद से संबंधित गतिविधियों के वित्तपोषण में शामिल होने की जांच की जा रही है।

 

NIA अधिकारी ने कहा कि कुछ पंजीकृत और अपंजीकृत एनजीओ सार्वजनिक स्वास्थ्य एवं शिक्षा सहित दान और विभिन्न कल्याणकारी गतिविधियों की आड़ में देश और विदेश में धन एकत्र करते हुए पाए गए हैं। NIA प्रवक्ता ने कहा कि लेकिन, इनमें से कुछ संगठनों ने लश्कर-ए-तैयबा और हिजबुल मुजाहिदीन जैसे आतंकवादी संगठनों के साथ संबंध विकसित किए हैं। NIA ने परवेज को नवंबर 2021 में गिरफ्तार किया था और राष्ट्र-विरोधी गतिविधियों के आरोप में 13 मई 2022 को छह अन्य लोगों के साथ उसके खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया था।

Related Story

Afghanistan

134/10

20.0

India

181/8

20.0

India win by 47 runs

RR 6.70
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!