नेपाल को निगलने की फिराक में ड्रैगन ! चीनी विदेश मंत्री की काठमांडू यात्रा 25 मार्च से

Edited By Tanuja,Updated: 21 Mar, 2022 04:13 PM

chinese foreign minister wang yi will visit nepal on march 25

चीन दुनिया पर कब्जे की महत्वकांशा को पूरा करने के लिए छोटे देशों को अपने जाल में फंसाता जा रहा है। ड्रैगन अब  नेपाल को निगलने की फिराक में...

 

काठमांडू: चीन दुनिया पर कब्जे की महत्वकांशा को पूरा करने के लिए छोटे देशों को अपने जाल में फंसाता जा रहा है। ड्रैगन अब  नेपाल को निगलने की फिराक में नजर आ रहा है।  यहीं वजह है कि  चीन के विदेश मंत्री वांग यी नेपाल  दौरे पर आ रहे हैं।  वांग   विदेश मंत्री नारायण खड़का के निमंत्रण पर तीन दिवसीय आधिकारिक यात्रा पर 25 मार्च को यहां आएंगे। वांग अपनी यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों के साथ-साथ हिमालयी देश में चीन की महत्वाकांक्षी ‘बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव' (बीआरआई) को बढ़ावा देने पर भी चर्चा करेंगे।

 

शेर बहादुर देउबा के नेतृत्व में पिछले साल सरकार बनने के बाद वांग नेपाल आने वाले सर्वोच्च स्तर के विदेशी गणमान्य व्यक्ति होंगे। विदेश मंत्रालय द्वारा सोमवार को जारी बयान के अनुसार, ‘‘विदेश मंत्री नारायण खड़का के निमंत्रण पर चीन के स्टेट काउंसिलर और विदेश मंत्री वांग यी 25 से 27 मार्च, 2022 तक नेपाल की यात्रा पर आ रहे हैं।'' सूत्रों के अनुसार, वांग की यात्रा के दौरान बीआरआई के तहत कई समझौतों पर हस्ताक्षर किए जाने की संभावना है।

 

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की पहल पर 2013 में शुरू की गई बीआरआई परियोजना का लक्ष्य दुनियाभर में बुनियादी ढांचे से जुड़ी परियोजनाओें के लिये वित्तपोषण करना है। इसके तहत चीन अपने 3.21 हजार अरब अमेरिकी डॉलर के विदेशी मुद्रा भंडार का उपयोग कर पूरी दुनिया में अपना प्रभाव बढ़ाने की कोशिश कर रहा है।गौरतलब है कि नेपाल और चीन के बीच पांच साल पहले बीआरआई के तहत सहमति पत्र पर हस्ताक्षर हुआ था, लेकिन अभी तक कोई भी परियोजना शुरू नहीं हुई है।

 

अपनी आधिकारिक यात्रा के दौरान वांग नेपाल के विदेश मंत्री खड़का के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। नेपाल के विदेश मंत्रालय द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार, वांग अपनी यात्रा के दौरान राष्ट्रपति बिद्या देवी भंडारी और प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा से भी मिलेंगे। उसमें कहा गया है, ‘‘विदेश मंत्री खड़का और वांग के बीच 26 मार्च, 2022 को द्विपक्षीय बैठक होगी, जिसमें वे अपने-अपने देश के शिष्टमंडल का नेतृत्व करेंगे।'' वांग अपनी यात्रा के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री और सीपीएन-यूएमएल के अध्यक्ष के. पी. शर्मा ओली और सीपीएन माओवादी सेंटर के अध्यक्ष पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड' से भी मिलेंगे।  

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!