हजारीबाग में मूर्ति विसर्जन के दौरान किशोर की हत्या के बाद ठप इंटरनेट सेवा बहाल

Edited By Pardeep, Updated: 09 Feb, 2022 01:30 AM

hazaribagh  internet service halted after kishore s murder

झारखंड के हजारीबाग में सरस्वती पूजा के बाद रविवार शाम मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में हुई झड़प में 17 वर्षीय किशोर रूपेश कुमार पांडेय की हत्या के बाद ठप की गई इंटरनेट

हजारीबागः झारखंड के हजारीबाग में सरस्वती पूजा के बाद रविवार शाम मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में हुई झड़प में 17 वर्षीय किशोर रूपेश कुमार पांडेय की हत्या के बाद ठप की गई इंटरनेट सेवा को मंगलवार देर शाम बहाल कर दिया गया। पंडेय की हत्या के बाद हजारीबाग एवं आसपास के चार जिलों रामगढ़, चतरा, गिरिडीह, कोडरमा में फैले सांप्रदायिक तनाव को देखते हुए इन जिलों में इंटरनेट सेवा ठप कर दी गई थी। पुलिस ने दावा किया कि किशोर की हत्या में शामिल और दंगा फैलाने की कोशिश करने वाले चार लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। 

हजारीबाग के पुलिस अधीक्षक मनोज रतन चौथे ने दावा किया कि रविवार शाम सरस्वती प्रतिमा विसर्जन के दौरान जिस किशोर रुपेश कुमार पांडेय की हत्या की गई उसका प्रतिमा विसर्जन जुलूस से कोई सम्बंध नहीं था। उन्होंने यह भी दावा किया कि किशोर की हत्या उसके किसी पुराने विवाद से जुड़ी घटना है। हालांकि यह पूछे जाने पर कि सरस्वती प्रतिमा विसर्जन के दौरान ही यह घटना कैसे हुई, पुलिस अधीक्षक कुछ नहीं कह सके। उन्होंने कहा कि मामले की जांच की जा रही है। 

मनोज ने बताया कि अब हजारीबाग में स्थिति नियंत्रण में है। मनोज ने बताया कि रूपेश के परिजनों की शिकायत पर प्राथमिकी भी दर्ज की गई है जिसमें 27 नामजद सहित 100 अज्ञात लोगों को आरोपी बनाया गया है। इस बीच भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने आरोप लगाया है कि भीड़ ने जिस प्रकार सरस्वती प्रतिमा विसर्जन के दौरान घेर कर रुपेश पांडेय की हत्या की वह एक भीड़ हिंसा है और इसी आधार पर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य सरकार वास्तविक अपराधियों को बचाने की कोशिश में है।
 

Related Story

Test Innings
England

284/10

378/3

India

416/10

245/10

England win by 7 wickets

RR 4.63
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!