Ram mandir : मकर संक्रांति पर सूर्य किरण से होगी अयोध्या में श्रीराम की चरण वंदना

Edited By Niyati Bhandari,Updated: 28 Jun, 2022 08:40 AM

ram mandir

अयोध्या राम जन्म भूमि पर पर तैयार हो रहे श्रीराम मंदिर में अगले वर्ष 2023 से सूर्य की किरणें सबसे पहले भगवान राम के चरणों पर पड़ेंगी। मंदिर निर्माण में इस तरह की तकनीक को अपनाया जा रहा है, ताकि

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

नई दिल्ली (निशांत राघव / नवोदय टाइम्स): अयोध्या राम जन्म भूमि पर पर तैयार हो रहे श्रीराम मंदिर में अगले वर्ष 2023 से सूर्य की किरणें सबसे पहले भगवान राम के चरणों पर पड़ेंगी। मंदिर निर्माण में इस तरह की तकनीक को अपनाया जा रहा है, ताकि देश के कुछेक चुनिंदा मंदिरों की तर्ज पर यहां श्रद्धालुओं को रामलला की अलग आभा के दर्शन हो सकें। तय किया जा रहा है कि भव्यता में विश्व में अनूठा होने वाले इस मंदिर में राम की सपरिवार नई मूर्ति को स्थापित किया जाएगा। जबकि अब तक विराजमान रहे रामलला की मूर्ति को उत्सव मूर्ति के रूप में पूजा जाएगा। योजना है कि आने वाले दिनों में हर वर्ष एक गांव को गोद लेकर उसका विकास ट्रस्ट के जरिये हो। यह सभी सुझाव समिति की तरफ से सरकार के समक्ष भी रखे जा रहे हैं। 

1100  रुपए मूल्य की जन्म कुंडली मुफ्त में पाएं । अपनी जन्म तिथि अपने नाम , जन्म के समय और जन्म के स्थान के साथ हमें 96189-89025 पर वाट्स ऐप करें

श्रीराम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के ट्रस्टी, विश्व हिन्दू परिषद मार्गदर्शक मंडल के सदस्य, पेजावर मठ के पीठाधिपति जगदगुरू माधवाचार्य विश्व प्रसन्न तीर्थ स्वामी ने कहा कि योजना है कि भगवान राम के मंदिर में सूर्य की किरणें सुबह सबसे पहले उनके चरणों पर पड़ें। इसके लिए तकनीक में मामूली सुधार किया गया है। श्रीराम मंदिर का निर्माण कार्य 2023 तक पूरा कर लिया जाएगा। लेकिन शेष कार्य को पूरा होने में करीब दो वर्ष का समय और लग सकता है। 

राम के जीवन दर्शन की झलकी 
न्यास की योजना है कि भले ही अयोध्या में मंदिर परिसर के समीप या फिर अयोध्या के बाहरी हिस्से अथवा किसी अन्य इलाके में लगभग 500 एकड़ से 1 हजार एकड़ भूमि को लेकर उस पर राम के जीवन दर्शन और उनके संघर्ष से लेकर रावण तक की लंका आदि की झलकियों को दर्शाया जाए। एक म्यूजियम के रूप में इसे विकसित किया जाए। मंदिर परिसर के आउटर में देश भर की संस्कृति से ओत-प्रोत यात्री निवास बनाया जाएगा। 

PunjabKesari kundli

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!