Review: जाति व्यवस्था पर दिल कचोटते सवाल उठाती है Guthlee Ladoo, संजय मिश्रा ने की शानदार एक्टिंग

Updated: 13 Oct, 2023 01:00 PM

sanjay mishra starrer guthlee ladoo review in hindi

यहां पढ़ें कैसी है संजय मिश्रा की 'गुठली लड्डू'...

फिल्म- गुठली लड्डू (Guthlee Ladoo) 
डायरेक्टर- इशरत खान  (Ishrat R Khan) 
स्टारकास्ट- संजय मिश्रा (Sanjay Mishra), सुब्रत दत्ता (Subrat Dutta),कल्याणी मुले (Kalyanee Mulay), कंचन पगारे (Kanchan Pagare)
रेटिंग- 3

Guthlee Ladoo: हिंदी सिनेमा में पहले भी ऐसी कई फिल्में बन चुकी हैं, जिनमें समाज में जाति-व्यवस्था को बारीकी से दिखाया गया है। हालांकि अब ऐसी फिल्में आनी थोड़ी कम हो गई हैं। लेकिन आज यानी 13 अक्टूबर को सिनेमाघरों में संजय मिश्रा की फिल्म 'गुठली लड्डू' रिलीज हो गई है, जो जाति के बंधनों पर करारी चोट करती है। इशरत आर खान के निर्देशन में बनी इस फिल्म में संजय मिश्रा के अलावा सुब्रत दत्ता ,कल्याणी मुले और कंचन पगारे जैसे शानदार एक्टर्स नजर आ रहे हैं। आइए जानते हैं फिल्म की कहानी...

कहानी 
फिल्म की कहानी गुठली और लड्डू की है, जिनके घर में सभी लोग साफ-सफाई का काम करते हैं लेकिन गुठली स्कूल जाकर पढ़ाई करना चाहता है, जिसमें उसकी जाति आड़े आ रही है। उसका पढ़ाई-लिखाई में बहुत मन लगता है। दूसरे बच्चे जो विषय क्लास में बैठकर समझ नहीं पाते उसे गुठली खिड़की से ही देखकर समझ लेता है। स्कूल के प्रिंसिपल संजय मिश्रा जो पहले नहीं चाहते थे, गुठली उनके स्कूल में पढ़े, उनका धीरे-धीरे गुठली के प्रति रवैया बदलने लगता है। क्या गुठली पढ़-लिख पाएगा? और क्या उसे स्कूल में एडमिशन मिलेगा? ऐसे तमाम सवालों के जवाब जानने के लिए आपको यह फिल्म देखनी होगी।

एक्टिंग
जाति व्यवस्था पर चोट करती यह फिल्म अपनी कहानी से बहुत गंभीर संदेश देती है और ऐसे कई सवाल उठाती है जो आपके मन को कहीं न कहीं कचोटते हैं। स्कूल के प्रिंसिपल के रूप में संजय मिश्रा ने शानदार एक्टिंग की है। उनके हाव-भाव और डायलॉग डिलीवरी हमेशा की तरह जबरदस्त रही है। वहीं लड्डू के किरदार को हीत शर्मा ने जिया है। वह स्क्रीन पर बहुत अच्छे लगे हैं। इसके अलावा सभी एक्टर्स ने अच्छा काम किया है। 

डायरेक्शन
गुठली लड्डू का निर्देशन इशरत खान ने किया है। वह फिल्म से जो संदेश देना चाहते थे, वो उन्होंने बखूबी दिया है। हर सीन को उन्होंने इतना परेफेक्ट बनाने की कोशिश की है कि आप चाहकर भी कमी नहीं निकाल सकते हैं। दिग्गज एक्टर्स के साथ उन्होंने बाल कलाकारों से भी बढ़िया काम लिया है। चमक-धमक से दूर गुठली लड्डू की ये कहानी एक ऐसी दुनिया में ले जाएगी, जहां आप समाज के बारे में सोचने पर मजबूर हो जाएंगे। कुल मिलाकर कहें तो फिल्म देखने लायक है। 

Related Story

Trending Topics

India

397/4

50.0

New Zealand

327/10

48.5

India win by 70 runs

RR 7.94
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!