अमित शाह ने सत्येंद्र जैन पर साधा निशाना, मंत्री पद पर बने रहने को बताया शर्मनाक

Edited By rajesh kumar,Updated: 24 Nov, 2022 08:43 PM

amit shah targets satyendar jain calls shameful continue as minister

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बृहस्पतिवार को दिल्ली सरकार के मंत्री के तौर पर आम आदमी पार्टी (आप) के नेता सत्येंद्र जैन के जेल में बने रहने को ‘शर्मनाक' बताया और कहा कि इस तरह की चीजें सार्वजनिक जीवन में अभूतपूर्व हैं।

 

नेशनल डेस्क: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बृहस्पतिवार को दिल्ली सरकार के मंत्री के तौर पर आम आदमी पार्टी (आप) के नेता सत्येंद्र जैन के जेल में बने रहने को ‘शर्मनाक' बताया और कहा कि इस तरह की चीजें सार्वजनिक जीवन में अभूतपूर्व हैं। तिहाड़ जेल में बंद जैन के कुछ वीडियो सामने आये हैं, जिनमें वह अपनी कोठरी में कच्ची सब्जियां और फल खाते हुए दिख रहे हैं।

आप इतनी बेशर्मी के साथ कार्य नहीं कर सकते
अन्य वीडियो में उन्हें मालिश कराते और अन्य विशेष सुविधाएं पाते भी देखा जा सकता है। गृह मंत्री ने यहां एक कार्यक्रम में कहा, ‘‘मैं भी जेल गया था और मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। बाद में, हमने अदालत में लड़ाई लड़ी और अदालत ने कहा कि यह एक राजनीतिक साजिश थी और मामला फर्जी है। यदि आपके साथ अन्याय हुआ है तो कानून का सहारा लीजिए, या अदालत का रुख करिए। आप इतनी बेशर्मी के साथ कार्य नहीं कर सकते।''

जेल जाने के बाद भी आप उन्हें निलंबित नहीं कर रहे
तिहाड़ में जैन को विशेष सुविधाएं मिलने के बारे में पूछे जाने पर शाह ने कहा कि यह जवाब अरविंद केजरीवाल नीत आम आदमी पार्टी को देना चाहिए कि ये वीडियो वास्तविक हैं, या नहीं। शाह ने कहा, ‘‘यदि वीडियो वास्तविक हैं तो यह आप की जवाबदेही बनती है। उन्हें जेल में बंद अपने मंत्री से कहना चाहिए कि उनके जेल जाने के बाद भी आप उन्हें निलंबित नहीं कर रहे हैं। और जेल में रहते हुए वह इस तरह की सुविधाएं उठा रहे हैं। मुझे इस सवाल का जवाब नहीं देना। वह (जैन) आज भी मंत्री हैं।''

मंत्री पद पर चिपके रहने की इस तरह की बेशर्मी अभूतपूर्व है
उन्होंने एक समिट में कहा, ‘‘मैंने अपने लंबे राजनीतिक जीवन में यह कभी नहीं देखा कि एक पार्टी एक मंत्री के जेल जाने पर भी उनका इस्तीफा नहीं ले रही है।'' शाह ने कहा कि जेल में बंद रहने के बाद भी मंत्री पद पर चिपके रहने की इस तरह की बेशर्मी अभूतपूर्व है। इस तरह की स्थिति में एक मंत्री को हटाने की केंद्र को अनुमति देने वाले प्रावधानों के बारे में पूछे जाने पर शाह ने कहा कि संविधान निर्माताओं ने शायद सोचा नहीं होगा कि इस तरह की स्थिति आ सकती है और इसलिए इस बारे में कोई प्रावधान नहीं किया। 

Related Story

Trending Topics

Pakistan

137/8

20.0

England

138/5

19.0

England win by 5 wickets

RR 6.85
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!