FasTag की जगह शुरू होगी GPS आधारित टोल प्रणाली, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने किया ऐलान

Edited By Parminder Kaur,Updated: 12 Feb, 2024 11:13 AM

nitin gadkari hints about gps toll collection to replace fastag

भारत में FasTag को बंद किया जा रहा है और इसकी जगह GPS लाया जा रहा है। केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि केंद्र सरकार ने भारत में सभी टोल बूथों को हटाने और वाहनों के लिए जीपीएस-सैटेलाईट बेस्ड टोल कनेक्शन सिस्टम लागू करने का फैसला किया है।

नेशनल डेस्क. भारत में FasTag को बंद किया जा रहा है और इसकी जगह GPS लाया जा रहा है। केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि केंद्र सरकार ने भारत में सभी टोल बूथों को हटाने और वाहनों के लिए जीपीएस-सैटेलाईट बेस्ड टोल कनेक्शन सिस्टम लागू करने का फैसला किया है।

PunjabKesari
केंद्रीय मंत्री ने राज्यसभा में एक सवाल के जवाब में कहा कि हम संसद को आश्वस्त करना चाहते हैं कि टोल प्रणाली को लेकर दुनिया की सबसे अच्छी तकनीक सेटेलाइट आधारित प्रणाली जल्द शुरू की जाएगी, जिसके बाद टोल नाके हटा दिए जाएंगे।

PunjabKesari
उन्होंने कहा कि वर्तमान जीपीएस-आधारित टोल संग्रह प्रणाली अगले महीने लागू होगी। इससे सीमा शुल्क बूथ पूरी तरह से हट जाएंगे और लोगों को वाहनों में जीपीएस सिस्टम का इस्तेमाल कर सीमा शुल्क का भुगतान करना होगा। इससे लोगों को रुकने की जरूरत नहीं होगी और नंबर प्लेट की फोटो से टोल वसूली होगी। यह प्रणाली हाईवे अथवा एक्सप्रेसवे का प्रयोग किए जाने वाले समय के आधार पर शुल्क वसूलेगी। यह शुल्क वाहन चालक के बैंक अकाउंट से स्वत: कट जाएगा।


इस दौरान गडकरी ने फास्टैग से वसूली का आंकड़ा बताते हुए कहा कि फास्टैग से 49 हजार करोड़ रुपये से अधिक टोल वसूली हो चुकी है। प्रतिदिन का संग्रह 170 से 200 करोड़ के बीच का है।
बता दें कि आगामी लोकसभा चुनावों की घोषणा से पहले इसके लागू होने की उम्मीद है।
 

Related Story

India

397/4

50.0

New Zealand

327/10

48.5

India win by 70 runs

RR 7.94
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!