Inspirational Story- विचार करें, कौन सा मोह बड़ा है संतान या धन

Edited By Niyati Bhandari,Updated: 25 Apr, 2022 09:54 AM

inspirational story

एक व्यक्ति अपने खेत में काम कर रहा था। दोपहर में सूर्य का ताप तेज हो चुका था वह काम करते-करते थक गया तो सुस्ताने के लिए एक पेड़ की छाया में लेट गया। वह नींद से उठा तो देखा कि पास ही एक बांबी थी।

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

Inspirational Story- एक व्यक्ति अपने खेत में काम कर रहा था। दोपहर में सूर्य का ताप तेज हो चुका था वह काम करते-करते थक गया तो सुस्ताने के लिए एक पेड़ की छाया में लेट गया। वह नींद से उठा तो देखा कि पास ही एक बांबी थी। उसके बाहर एक काले नाग ने कुंडली मार कर अपना फन फैला रखा था। व्यक्ति ने सोचा कि यह इस खेत का देवता है। मैंने इसकी कभी आवभगत नहीं की। इसी कारण मेरे खेत में फसल बहुत कम होती है। वह कहीं से एक प्याला दूध लाया और नाग के सामने रख दिया। नाग दूध पीकर बांबी में चला गया। 

PunjabKesari Inspirational Story
दूसरे दिन भी व्यक्ति उसके लिए दूध लेकर आया तो देखा कि वहां एक सोने का सिक्का रखा हुआ है। अब तो वह नित्य उसे दूध पिलाता, बदले में नाग उसे एक सोने का सिक्का देता था। 

व्यक्ति की निर्धनता दूर हो गई। वह समृद्ध जीवन जीने लगा।

बहुत समय बाद व्यक्ति को किसी कार्यवश बाहर जाना था। नाग को दूध पिलाने में कोई व्यवधान न हो इसलिए यह अपनी जिम्मेदारी अपने बेटे को देकर गया। बेटा दूध पिलाने गया। बदले में सोने का सिक्का देख कर उसने सोचा कि सांप के पास बहुत सारे सिक्के होंगे, क्यों न इसे मार कर सारे सिक्के एक ही बार में ले लिए जाएं। 

दूसरे दिन वह दूध लेकर आया तो नाग के बाहर आते ही सांप पर लकड़ी से वार कर दिया। वह मार सांप के लगी तो सही परंतु वह मरा नहीं बच गया। उसने पलट कर व्यक्ति के बेटे को डस लिया। विष के प्रभाव से तुरंत उसकी मौत हो गई।

PunjabKesari Inspirational Story

व्यक्ति के वापस आने पर उसे सारी घटना का पता लगा। उसने बेटे का दाह संस्कार किया और सांप के लिए दूध लेकर गया। 

सांप आया और बोला कि तुम्हारे बेटे को मैंने नहीं उसके लोभ ने डसा है। अब मेरी और तुम्हारी मित्रता भी नहीं रहेगी। तुम आज भी सोने के सिक्के के कारण आए हो। तुम अपने पुत्र की मौत को कभी नहीं भुला पाओगे। तुम उसकी चिता को देखो और मेरे फन पर लगे घाव को। बस अब आज के बाद तुम कभी मेरे पास नहीं आना। उस दिन के दूध के बदले उसने एक हीरा दिया और अपनी बांबी में चला गया। 

व्यक्ति कभी बांबी की तरफ देखता कभी पलट कर बेटे की जलती चिता को, तो कभी हाथ के हीरे को। वह बेटे के लोभ के कारण हुए भारी नुकसान के बारे में विचार करता हुआ घर की ओर लौट गया। 

PunjabKesari Inspirational Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!