महाराष्ट्र संकटः अपनों से भी छोड़ा साथ, अकेले पड़े उद्धव ठाकरे...आदित्य शिवसेना के एकमात्र कैबिनेट मंत्री बचे

Edited By Seema Sharma,Updated: 27 Jun, 2022 10:49 AM

maharashtra crisis uddhav thackeray left alone

महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री उदय सामंत के रविवार को एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाले धड़े में शामिल होने के लिए गुवाहाटी पहुंचने के साथ ही उद्धव ठाकरे खेमे से आदित्य ठाकरे शिवसेना के एकमात्र कैबिनेट मंत्री बचे हैं

नेशनल डेस्क: महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री उदय सामंत के रविवार को एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाले धड़े में शामिल होने के लिए गुवाहाटी पहुंचने के साथ ही उद्धव ठाकरे खेमे से आदित्य ठाकरे शिवसेना के एकमात्र कैबिनेट मंत्री बचे हैं, जो विधायक हैं, जबकि उनकी पार्टी के शेष तीन कैबिनेट मंत्री विधान परिषद के सदस्य हैं। उच्च और तकनीकी शिक्षा विभाग का नेतृत्व करने वाले सामंत एकनाथ शिंदे खेमे में शामिल होने वाले शिवसेना के नौवें मंत्री हैं। 

 

धीरे-धीरे अपनों ने भी छोड़ा साथ
शिवसेना के पास अब चार कैबिनेट मंत्री हैं, जिनमें मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, आदित्य ठाकरे, अनिल परब और सुभाष देसाई शामिल हैं। आदित्य ठाकरे को छोड़कर बाकी तीन कैबिनेट मंत्री विधायक नहीं, बल्कि विधान परिषद के सदस्य हैं। वहीं, एक अन्य कैबिनेट मंत्री और विधायक क्रांतिकारी शेतकरी पक्ष के नेता शंकरराव गडख हैं, जो शिवसेना के सहयोगी हैं। शिवसेना के नेतृत्व वाली महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार में, उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली पार्टी में विद्रोह से पहले 10 कैबिनेट रैंक के मंत्री और चार राज्य मंत्री थे, जिनमें से दो शिवसेना कोटे से थे।

 

चारों राज्य मंत्री गुवाहाटी में विद्रोही खेमे में शामिल हो गए हैं। वर्तमान में गुवाहाटी में डेरा डाले हुए शिवसेना के अन्य कैबिनेट मंत्री एकनाथ शिंदे, गुलाबराव पाटिल, संदीपन भुमरे, दादा भुसे और उदय सामंत हैं। शिवसेना से संबंधित राज्य मंत्री जो असंतुष्ट हैं, वे शंभूराजे देसाई और अब्दुल सत्तार हैं जबकि बच्चू कडू (प्रहार जनशक्ति पार्टी) और राजेंद्र येद्रावकर (निर्दलीय) शिवसेना कोटे से आते हैं।

 

शिवसेना से आने वाले चार मौजूदा कैबिनेट मंत्रियों में, देसाई अगले महीने एमएलसी नहीं रहेंगे, क्योंकि उन्हें हाल ही में हुए विधान परिषद चुनाव में एक और कार्यकाल के लिए नामित नहीं किया गया। महाराष्ट्र मंत्रिपरिषद में 31 कैबिनेट मंत्री और दस राज्य मंत्री हैं। वन मंत्री और शिवसेना विधायक संजय राठौड़ ने पिछले साल एक आपराधिक मामले के चलते इस्तीफा दे दिया था। मुख्यमंत्री वन विभाग संभाल रहे हैं।

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!