चालू वित्त वर्ष में पॉल्ट्री उद्योग की कमाई 30% बढ़कर 2.50 लाख करोड़ पर पहुंचेगी

Edited By jyoti choudhary,Updated: 29 Jul, 2022 01:39 PM

poultry industry s earnings will increase by 30 to reach 2 50 lakh

देश के पॉल्ट्री का राजस्व चालू वित्त वर्ष में 30 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 2,50,000 करोड़ रुपए पर पहुंचने का अनुमान है। बृहस्पतिवार को जारी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि मांग में निरंतर वृद्धि और प्राप्तियां ऊंची रहने से पॉल्ट्री उद्योग के राजस्व में

मुंबईः देश के पॉल्ट्री का राजस्व चालू वित्त वर्ष में 30 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 2,50,000 करोड़ रुपए पर पहुंचने का अनुमान है। बृहस्पतिवार को जारी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि मांग में निरंतर वृद्धि और प्राप्तियां ऊंची रहने से पॉल्ट्री उद्योग के राजस्व में उल्लेखनीय बढ़ोतरी होगी। क्रिसिल रेटिंग्स ने एक रिपोर्ट में कहा कि मुर्गीदाने की बढ़ी हुई लागत से इस उद्योग का परिचालन लाभ प्रभावित होगा। रिपोर्ट में कहा गया है कि पिछले दो वित्त वर्षों में पॉल्ट्री फार्मों ने कोविड महामारी के बीच क्षमता वृद्धि को रोक दिया है। 

रिपोर्ट में कहा गया है कि इसके चलते मांस और अंडे में खपत वृद्धि का स्तर वित्त वर्ष 2020-21 की तुलना में पिछले वित्त वर्ष में क्रमश: पांच प्रतिशत (4.3 लाख टन) और चार प्रतिशत (120 अरब(रहा है। क्रिसिल रेटिंग्स की रिपोर्ट में कहा गया है कि बढ़ती आबादी, प्रति व्यक्ति मांस की अधिक खपत और प्रोटीन युक्त आहार के लिए बढ़ती प्राथमिकता के कारण मांग लगातार मजबूत होने की वजह से पॉल्ट्री उद्योग अपनी पूरी क्षमता का उपयोग करते हुए काम कर रहे हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि होटल, रेस्तरां और कैफे खंड अब आगे बढ़ रहा है। 

मांग आपूर्ति से अधिक हो रही है, जिससे ब्रायलर चिकन का थोक मूल्य अधिक हो गया है। दूसरी ओर, मक्का और सोयामील, प्रमुख मुर्गीदाने की कीमतों में आपूर्ति घटने के कारण लगभग 35 प्रतिशत की वृद्धि हुई है और वर्ष के दौरान इसके कम होने की संभावना नहीं है। रिपोर्ट में कहा गया है कि इससे लगातार दूसरे वित्तवर्ष में लाभ कम रहेगा।
 

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!