कोरोना महामारी के दौरान भारत-अमेरिका ने परस्पर सहयोग में निभाई महत्वपूर्ण भूमिका: राजदूत संधू

Edited By Tanuja, Updated: 29 May, 2022 02:13 PM

india us supported each other during covid pandemic  sandhu

अमेरिका में भारत के शीर्ष राजदूत तरनजीत सिंह संधू ने कहा है कि कोविड-19 महामारी के दौरान भारत और अमेरिका ने एक दूसरे का सहयोग...

 वाशिंगटन: अमेरिका में भारत के शीर्ष राजदूत तरनजीत सिंह संधू ने कहा है कि कोविड-19 महामारी के दौरान भारत और अमेरिका ने एक दूसरे का सहयोग करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इंडियानापोलिस में ‘इंडियाना इकोनॉमिक समिट' को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि पिछले दो वर्षों में वैश्विक आपूर्ति श्रृंखलाओं में व्यवधान के कारण एक जबरदस्त चुनौती रही है और अमेरिका की तरह, भारत भी इससे प्रभावित हुआ है। संधू ने इस सप्ताह कहा, हालांकि सही नीतियों और अपनी क्षमताओं के पुनर्निर्माण पर पूरा ध्यान देने के कारण वे महामारी से भी मजबूती से उभरने में सफल रहे हैं।

 

भारतीय राजदूत ने कहा, ‘‘इस अवधि के दौरान भारत और अमेरिका ने एक दूसरे का सहयोग करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।'' संधू ने कहा कि यह सहयोग विशेष रूप से स्वास्थ्य आपूर्ति श्रृंखलाओं में था, जहां भारत ने 2020 में अमेरिका को जरूरी दवाओं और व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरणों की आपूर्ति की थी। उन्होंने कहा, ‘‘हमने फिलाडेल्फिया को लगभग 20 लाख मास्क की आपूर्ति की। अमेरिका ने 2021 में भारत में संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान टीकों ,औषधि तत्वों के साथ सहायता की। भारत ने दिखाया कि वह कठिन परिस्थितियों में भी अमेरिका के लिए एक विश्वसनीय आपूर्ति श्रृंखला भागीदार बना रहा।''

 

संधू ने कहा, ‘‘घरेलू स्तर पर, हम व्यापार सुगमता में सुधार कर, विदेशी निवेश के लिए बाधाओं को दूर कर, कर और प्रोत्साहन संरचना में सुधार और नवाचार को बढ़ावा देकर अर्थव्यवस्था को मजबूती देने का काम कर रहे हैं। वास्तव में, भारत शायद एकमात्र देश है, जो महामारी के दौरान साहसिक आर्थिक सुधारों के साथ सामने आया है...।'' भारत के राजदूत के रूप में इंडियाना की अपनी पहली यात्रा पर, संधू ने न केवल शीर्ष सरकारी अधिकारियों के साथ बैठक की, बल्कि प्रतिष्ठित पर्ड्यू विश्वविद्यालय के छात्रों और शिक्षाविदों और भारतीय-अमेरिकी समुदाय के प्रतिष्ठित लोगों के साथ भी बातचीत की।

 

वह इंडियाना में एक गुरुद्वारे में भी गए और उन्होंने सिख समुदाय के लोगों के साथ बातचीत की। उनके स्वागत समारोह में राज्य स्तर के अधिकारी और पड़ोसी राज्य ओहायो से भारतवंशी युवा सांसद नीरज अतानी भी शामिल हुए। संधू ने द्विपक्षीय संबंधों में इंडियाना द्वारा निभाई जा रही महत्वपूर्ण भूमिका पर कहा, ‘‘भारत से इंडियाना तक, हमारी साझेदारी अभी शुरू हुई है।'' इंडियाना का द्विपक्षीय व्यापार अब एक अरब अमेरिकी डॉलर से अधिक है। इंडियाना के गवर्नर एरिक जे होलकोम्ब संभवत: एकमात्र अमेरिकी गवर्नर हैं जिन्होंने 2017 और 2019 में दो बार भारत का दौरा किया है। 2019 में उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात की थी। गवर्नर और राजदूत ने भारत तथा अमेरिका के बीच आर्थिक और वाणिज्यिक संबंधों पर मुख्य रूप से चर्चा की।

 

उन्होंने इंफोसिस सहित इंडियाना में भारतीय कंपनियों द्वारा किए गए निवेश का जिक्र किया। इंडियाना में भारतीय कंपनियां कई हजार नौकरियां प्रदान करती हैं। इसी तरह, इंडियाना की कई कंपनियों ने भारत में निवेश किया है। संधू ने ट्वीट किया, ‘‘स्वास्थ्य सेवा, डिजिटल एवं आईटी और शिक्षा में हमारी गहरी साझेदारी पर हमने काफी चर्चा की।'' संधू ने अपनी इंडियाना यात्रा के दौरान क्यूमिंस, एली लिली और एलांको के सीईओ के साथ भी बैठक की, जिसमें उन्होंने भारत में निवेश के मुद्दों पर चर्चा की। संधू ने ट्वीट किया, ‘‘इस हफ्ते मैंने पर्ड्यू विश्वविद्यालय के प्रभावशाली परिसर का दौरा किया।''

 

Related Story

Trending Topics

India

179/5

20.0

South Africa

131/10

19.1

India win by 48 runs

RR 8.95
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!