Movie Review : ब्लैकआउट : थ्रिल, सस्पेंस औऱ कॉमेडी का तड़का

Updated: 07 Jun, 2024 10:15 AM

movie review blackout a dash of thrill suspense and comedy

क्या हो यदि पूरे शहर की लाइट गुल हो जाये और ऐसे में आपको किसी काम से घर से निकलना पड़े और फिर परिस्थितियां इस तरह घटें की आपकी जान हलक में आ जाये, इसी विषय पर बनी है फिल्म ब्लैकआउट जो 7 जून से जिओ सिनेमा पर रीलीज हो रही है।

फिल्म : ब्लैकआउट
स्टारकास्ट : विक्रांत मैसी, सुनील ग्रोवर और मौनी रॉय
निर्देशक : देवांग भावसार
निर्माता : ज्योति देशपांडे. जिओ स्टूडियोज

रेटिंग : 04


Blackout:  क्या हो यदि पूरे शहर की लाइट गुल हो जाये और ऐसे में आपको किसी काम से घर से निकलना पड़े और फिर परिस्थितियां इस तरह घटें की आपकी जान हलक में आ जाये, इसी विषय पर बनी है फिल्म ब्लैकआउट जो 7 जून से जिओ सिनेमा पर रीलीज हो रही है। कॉमेडी थ्रिलर जॉनर की इस फिल्म में मुख्य भूमिका में 12वीं फेल मूवी के एक्टर विक्रांत मैसी के साथ साथ खूबसूरत मौनी रॉय और सुनील ग्रोवर भी दिखाई देंगे । फिल्म में अनिल कपूर की आवाज़ भी सुनने को मिलेगी जो अपनी दमदार आवाज़ में पात्रों का परिचय कराते हैं । फिल्म की सबसे खास बात यह है कि इसके रोमांच का तड़का फिल्म के अंत तक बरकरार रहता है औऱ दर्शक यह बूझने में असफल रहता है कि इस फिल्म का एन्ड कैसा होगा जो इस फिल्म की यूएसपी है । 

कहानी
कुछ लुटेरे पुणे शहर के बिजली बोर्ड पर आक्रमण कर देते हैं और वहां के कर्मचारियों को मौत के घाट उतारकर पूरे शहर की बिजली गुल कर देते हैं , इसके बाद वे एक और जगह सेंध लगाकर भारी मात्रा में ज्वेलरी और नकदी लूटकर अपनी वैन में दौड़ जाते हैं । दूसरी ओर स्टिंग ऑपरेशन में माहिर पत्रकार विक्रांत मैसी की पत्नी उसे किसी काम से घर से बहार भेजती है जहां विक्रांत मैसी की कार इन लूटेरों की वैन से टकरा जाती है और जब विक्रांत मैसी वैन का दरवाजा खोल कर देखता है तो उसकी आंखें इतनी ज्वेलरी ओर नकदी देखकर फटी के फटी रह जाती हैं। अब वह इस वैन से एक संदूक उठाकर अपनी गाडी की डिक्की में डाल लेता है । ख़ुशी से झूमते हुए औऱ रंगीन ख्यालों खोये विक्रांत मैसी की कार से कोई अनजान व्यक्ति टकरा जाता है, औऱ वहां उसे शराब में धुत सुनील ग्रोवर उसे इस व्यक्ति को हॉस्पिटल पहुंचाया के लिए कहता है औऱ खुद भी विक्रांत के साथ कार में बैठ जाता है । यह फिल्म परिस्थितियों का ऐसा ताना बना है जहाँ लालच, धोखा औऱ दुर्भाग्य साथ साथ चलते हैं । फिल्म में विक्रांत मैसी के इस रोमांचक सफर का अंजाम क्या होता है इसके लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी जो 7 जून को जिओ सिनेमा पर रिलीज हो रही है ।

 


एक्टिंग
फिल्म में सभी कलाकारों ने शानदार एक्टिंग की है -विक्रांत मैसी ने जर्नलिस्ट का किरदार निभाया है और अपने किरदार के साथ उन्होंने पूरा न्याय किया है । सुनील ग्रोवर ने डॉन अजगर का किरदार निभाया है। सुनील बेहतरीन एक्टर हैं और उन्होंने भी शानदार एक्टिंग की है । कहीं कहीं उन्होंने अपनी कॉमिक टाइमिंग का भी शानदार प्रदर्शन किया है । मौनी रॉय अपने किरदार में खूबसूरत लगी हैं और उन्होंने भी अभिनय की शानदार मिसाल पेश की है । अन्य कलाकारों ने भी अपने अपने किरदार बखूबी निभाए हैं और अपना श्रेष्ठत्म प्रदर्शन पेश किया है । कुल मिलाकर किसी भी कलाकार ने निराश नहीं किया ।

डायरेक्शन
फिल्म के निर्देशक देवांग भावसर ने स्क्रिप्ट को बखूबी परदे पर पेश किया है। कलाकरों से शानदार काम लेने के साथ साथ फिल्म को ब्लैकआउट के दौरान शहर का हाल बखूबी दिखाया है। थ्रिल औऱ सस्पेंस इस फिल्म के दो ऐसे तत्व हैं जो फिल्म की जान हैं औऱ निर्देशक ने इन्हें कहीं भी ढीला नहीं पड़ने दिया । फिल्म के हर सीन पर थ्रिल औऱ सस्पेंस का तड़का तड़का है जो दर्शकों को सीट से बंधे रहने पर मजबूर करता है । एडटिंग सटीक है कहीं भी फिल्म को खींचा नहीं गया है । डायलाग भी छोटे लेकिन प्रभावत्मक हैं ।

 


म्यूजिक
फिल्म का बैकग्राउंड म्यूजिक अच्छा है, जो सस्पेंस और थ्रिल को पूरी तरह सपोर्ट करता है। शुरुआत में एक गीत फिल्म की नंबरिंग के साथ चलता है जो काफी अच्छा लगता है।कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि फिल्म पूरी तरह से दर्शकों का मनोरंजन करने में सफल साबित होगी । सस्पेंस और थ्रिल आजकल के ऐसे जॉनर हैं जिन पर बनी फिल्मों का दर्शकों को बेसब्री से इंतजार रहता हैं और यह फिल्म उनके लिए एक ट्रीट से कम नहीं।

Related Story

Trending Topics

Afghanistan

134/10

20.0

India

181/8

20.0

India win by 47 runs

RR 6.70
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!