शूटर का चौंकाने वाला खुलासा- ये गलती न होती तो 27 मई को ही हो जाती सिद्धू मूसेवाला की हत्या, ऐसी बची थी जान

Edited By Anil dev, Updated: 22 Jun, 2022 11:51 AM

national news punjab kesari delhi delhi police sidhu musewala

दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या के सिलसिले में दो शूटर समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने बताया कि आरोपियों की पहचान हरियाणा के सोनीपत निवासी प्रियव्रत उर्फ फौजी (26), झज्जर जिले का रहने वाला...

नेशनल डेस्क: दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या के सिलसिले में दो शूटर समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने बताया कि आरोपियों की पहचान हरियाणा के सोनीपत निवासी प्रियव्रत उर्फ फौजी (26), झज्जर जिले का रहने वाला कशिश (24) और पंजाब के बठिंडा का निवासी केशव कुमार (29) के तौर पर हुई है। पुलिस ने कहा कि तीनों को 19 जून को गुजरात के कच्छ से गिरफ्तार किया गया है। वहीं पूछताछ के दौरान शूटर्स के सरगना प्रियव्रत फौजी ने सिद्धू मूसेवाला को लेकर चौंकाने वाला खुलासा किया है।

 प्रियव्रत फौजी ने बताया कि  27 मई को ही सिद्धू की हत्या हो जाती है, लेकिन छोटी सी गलती की वजह से वह बच गया। उसने बताया कि 27 मई को सिद्धू मूसेवाला अकेले गाड़ी में बैठकर निकले थे, जिसके बाद बोलेरो और कोरोला कार में सवार शूटर सिद्धू के पीछे पड़ गए थे। सिद्धू, किसी केस के सिलसिले में कोर्ट के लिए निकले थे और उनकी गाड़ी के पीछे शूटर की गाड़ी ने पीछा करना शुरू कर दिया। इस दौरान गाड़ी गांव की सड़क की जगह मेन हाई-वे पर तेजी से चलने लगी और शूटर बहुत दूर तक सिद्धू की गाड़ी का पीछा नहीं कर पाए और प्लान फेल हो गया।  शूटर के पास से बरामद हथियार इंडियन मेड नहीं है। सिद्धू मूसेवाला के नाम से मशहूर शुभदीप सिंह सिद्धू की 29 मई को पंजाब के मानसा जिले में अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। 

अधिकारियों ने बताया कि आरोपियों ने हत्याकांड से पहले कई बार क्षेत्र की टोह ली थी। उन्होंने कहा कि अधिकारियों ने आरोपियों को दबोचने के लिए कई स्थानों पर छापेमारी की थी। धालीवाल ने यहां पत्रकार वार्ता में बताया कि गिरफ्तार आरोपियों के पास से आठ ग्रेनेड, नौ इलेक्ट्रिक डेटोनेटर, तीन पिस्तौल और एक असॉल्ट राइफल बरामद की गई है। अधिकारी ने कहा कि आरोपियों ने ग्रेनेड को बंदूकों के काम नहीं करने पर वैकल्पिक योजना के तहत रखा था लेकिन उन्होंने इनका इस्तेमाल नहीं किया। पुलिस ने बताया कि प्रियव्रत ने शूटर की एक टीम का नेतृत्व किया और घटना के समय कनाडा में रहने वाले गैंगस्टर गोल्डी बराड़ के सीधे संपर्क में था। वह हत्या का मुख्य शूटर है और उसने ही इसे अंजाम दिया था। बराड़ ने प्रसिद्ध गायक एवं कांग्रेस नेता की हत्या की जिम्मेदारी ली थी। धालीवाल के मुताबिक, हत्याकांड को अंजाम देने के लिए दो मॉड्यूल अपनाए गए थे। अधिकारी ने बताया कि एक बोलेरो कार थी जिसे प्रियव्रत चला रहा था जबकि दूसरी कार कोरोला थी जिसे अन्य शूटर चला रहा था। 

उन्होंने कहा कि कोरोला ने मूसेवाला की कार को ओवरटेक किया और दोनों गाड़ियों से छह शूटर निकले और उन्होंने गायक पर गोलियां बरसना शुरू कर दिया। धालीवाल ने कहा कि उन्हें जब मूसेवाला की जान जाने का यकीन हो गया, वे तभी वहां से गए। घटना से पहले एक पेट्रोल पंप के सीसीटीवी फुटेज में प्रियव्रत को देखा जा सकता है। पुलिस ने कहा कि वह भी पहले हत्या के दो मामलों में शामिल रहा है और 2015 में सोनीपत में एक मामले में उसे गिरफ्तार किया गया था और वह 2021 में सोनीपत में हुई हत्या के एक अन्य मामले में भी वांछित था। पुलिस ने कहा कि कशिश भी एक शूटर है और सीसीटीवी फुटेज में उसे भी देखा गया था। वह हरियाणा के झज्जर में 2021 में की गई हत्या के एक मामले में वांछित है। पुलिस ने बताया कि कुमार उनका मददगार था और गोलीबारी के फौरन बाद शूटर को एक ऑल्टो कार में ले गया था। पुलिस ने कहा कि वह घटना वाले दिन मानसा तक शूटर के साथ रहा। उन्होंने कहा कि वह 2020 में बठिंडा में हत्या के एक मामले में गिरफ्तार किया गया था और उसके पंजाब में जबरन वसूली के अन्य मामलों में शामिल होने का शक है। 

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!