कन्हैयालाल के परिवार से मिले सीएम गहलोत, सौंपा 51 लाख का चेक, कहा- हत्यारों को दिलवाएं सख्त सजा

Edited By rajesh kumar,Updated: 30 Jun, 2022 02:28 PM

chief minister ashok gehlot reached house tailor kanhaiyalal meet family

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बृहस्पतिवार को दर्जी कन्हैयालाल के उदयपुर स्थित घर पर उनके परिवार को सांत्वना देने पहुंचे। कन्हैयालाल की दो मुस्लिम युवकों ने कथित तौर पर हत्या कर दी थी।

नेशनल डेस्क: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत उदयपुर स्थित पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे हैं। इस दौरान उन्होंने पीड़ित परिवार के साथ मुलाकात कर उन्हें ढांढस बढ़ाया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मृतक कन्हैया लाल के परिवार को 51 लाख रुपये का चेक सौंपा। इस दौरान मुख्यमंत्री के साथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा, राजस्व मंत्री रामलाल जाट, पुलिस महानिदेशक एम. एल. राठौड़ सहित कई अन्य नेता मौजूद रहे।

परिजनों से मिलने के बाद मीडियाकर्मियों को संबोधित करते हुए गहलोत ने कहा कि दर्जी हत्या मामले की जांच एनआईए कर रही है। हम चाहते हैं कि दोषियों को जल्द से जल्द फास्ट ट्रेक कोर्ट में केस चलाकर सजा मिले। कन्हैयालाल की हत्या से पूरा देश दुखी है। उन्होंने कहा कि इस हत्या ने उदयपुर के साथ देश को भी हिलाकर रख दिया है। जिस तरीके से यह हत्या हुई है, वो जघन्य अपराध है। हमने तत्काल कार्रवाई करते हुए दोनों आरोपियों को पकड़ लिया। एसओजी एटीएस को केस दे दिया और रातभर में ही पता लगा लिया कि ये घटना अंतर्राराष्ट्रीय संगठनों से संबंधित है। 

मुख्यमंत्री के दौरे के मद्देनजर क्षेत्र में सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किये गये हैं। गौरतलब है कि दर्जी कन्हैयालाल की दो मुस्लिम युवकों ने चाकू से हमला कर हत्या कर दी थी और उन्होंने इस नृशंस हत्या का वीडियो बाद में सोशल मीडिया पर डाला था। दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। मामले की जांच अब राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) कर रहा है और राजस्थान पुलिस का आतंकवाद रोधी दस्ता (एटीएस) जांच में मदद कर रहा है।
 

उदयपुर में दर्जी की हत्या के विरोध में ‘सर्व हिन्दू समाज' की रैली
उदयपुर में दर्जी कन्हैयालाल की हत्या के विरोध में ‘सर्व हिन्दू समाज' की ओर से निकाली गई रैली में हजारों लोग शामिल हुए। जिला प्रशासन की अनुमति मिलने के बाद हिन्दू संगठन ‘सर्व हिन्दू समाज' की ओर से आहूत रैली शांतिपूर्ण तरीके से टाउन हाल से कलेक्ट्रेट तक रैली निकाली गई। उदयपुर में मौजूद अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक दिनेश ने बताया कि रैली के लिये अनुमति प्रदान की गई थी और रैली के रास्ते पर कर्फ्यू में ढील दी गई। रैली को ‘मौन मार्च' बताया गया था, लेकिन कुछ सदस्यों ने हिन्दू धर्म के समर्थन में नारे लगाये। कुछ लोग भगवा झंडे लिए भी नजर आए। 

 

 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!