फिर से बढ़ सकते हैं पेट्रोल-डीजल के दाम, 120 डॉलर के पार पहुंचा कच्चे तेल

Edited By jyoti choudhary, Updated: 31 May, 2022 01:48 PM

petrol diesel prices may increase again crude oil crossed 120

कच्चे तेल की कीमतों में एक बार फिर से उबाल आ रहा है। आज इंटरनेशनल मार्केट में फिर से कच्चा तेल 120 डॉलर के स्तर को पार कर गया। ऑयल प्राइस डॉट कॉम के मुताबिक, दोपहर के 12.15 बजे क्रूड ऑयल 123.8 डॉलर प्रति बैरल और WTI क्रूड 119.2 डॉलर प्रति बैरल के...

नई दिल्लीः कच्चे तेल की कीमतों में एक बार फिर से उबाल आ रहा है। आज इंटरनेशनल मार्केट में फिर से कच्चा तेल 120 डॉलर के स्तर को पार कर गया। ऑयल प्राइस डॉट कॉम के मुताबिक, दोपहर के 12.15 बजे क्रूड ऑयल 123.8 डॉलर प्रति बैरल और WTI क्रूड 119.2 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर कारोबार कर रहा था। अगर कच्चे तेल में यह तेजी जारी रहती है तो इसका असर पेट्रोल और डीजल के भाव पर भी होगा।

केडिया कमोडिटी के डायरेक्टर अजय केडिया ने कहा कि आज और कल दो अहम घटनाएं होने वाली हैं जिसका क्रूड ऑयल की कीमत पर सीधा असर होगा। यूक्रेन पर हमले के कारण यूरोपियन यूनियन काउंसिल ने रूस से कच्चा तेल आयात पर बैन लगाने का फैसला किया है। इस फैसले से 75 फीसदी रसियन ऑयल इंपोर्ट पर बैन लग जाएगा। इस साल के अंत तक यूरोपियन यूनियन की तरफ से किया जाने वाला रसियन ऑयल इंपोर्ट के 90 फीसदी हिस्से पर बैन लग जाने की संभावना है। गुरुवार को OPEC देशों की अहम बैठक होने वाली है। इस बैठक में प्रोडक्शन बढ़ाने पर विचार किया जा सकता है। पिछली तीन बैठक से प्रोडक्शन में तेजी का फैसला नहीं लिया गया। इस बात की संभावना कम है कि फिर से OPEC के सदस्य प्रोडक्शन बढ़ाने का फैसला लेंगे।

प्रोडक्शन को लेकर OPEC देशों के फैसले पर रहेगी नजर
1 जून से चीन में कोरोना संबंधी प्रतिबंधों में बहुत हद तक ढील दी जा रही है। ऐसे में डिमांड बढ़ेगी। डिमांड बढ़ने और रसियन ऑयल एक्सपोर्ट पर बैन लगाने के EU के फैसले से कीमत को बल मिलेगा। अजय केडिया के मुताबिक, एक बार फिर से कच्चा तेल 138 डॉलर तक पहुंच सकता है। वैसे भारत रूस से सस्ता कच्चा तेल आयात कर रहा है। इसका फायदा उसे मिल रहा है। हालांकि, 130 डॉलर के पार भाव पहुंचने पर पेट्रोल और डीजल की कीमत में बढ़ोतरी का दबाव बढ़ जाएगा। जब तक यूक्रेन काइसिस खत्म नहीं हो जाती है, रूस के तेल निर्यात पर बैन के फैसले वापस नहीं लिए जाते, OPEC देश प्रोडक्शन बढ़ाने का फैसला नहीं करते और अमेरिका अपने रिजर्व से ज्यादा तेल नहीं निकालने का फैसला लेता है, इंटरनेशनल मार्केट में कच्चे तेल में तेजी जारी रहेगी।

130 डॉलर तक पहुंच सकता है कच्चा तेल
आईआईएफएल सिक्यॉरिटीज (IIFL Securities) के वाइस प्रेसिडेंट अनुज गुप्ता ने कहा कि अमेरिका में समर ड्राइव सीजन की शुरुआत हो रही है। ट्रैवल एक्टिविटी में तेजी के कारण इस समय अमेरिका में फ्यूल डिमांड सबसे ज्यादा रहती है। इसके कारण इंटरनेशनल मार्केट में कच्चे तेल की कीमत में उछाल आ रहा है। अगले 15 दिनों में क्रूड ऑयल 130 डॉलर तक पहुंच सकता है। अगर क्रूड ऑयल का भाव 130 डॉलर के पार पहुंचता है तो भारत में पेट्रोल और डीजल की कीमत पर दबाव बढ़ जाएगा।
 

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!