141 दिन के लिए शनि चलेंगे उल्टी चाल, इन राशियों को मिल सकती है खुशखबरी

Edited By Jyoti, Updated: 06 Jun, 2022 01:29 PM

shani vakri effects on which zodiac

साल 2022 में ग्रहों के न्यायाधीश शनि ग्रह ने 29 अप्रैल को कुंभ राशि में प्रवेश किया था। और अब इसी राशि में 5 जून से वक्री अवस्था में हो गए हैं। शनि की वक्री अवस्था का अर्थ है उल्टी चाल चलना। शनि कुंभ राशि में 5

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
साल 2022 में ग्रहों के न्यायाधीश शनि ग्रह ने 29 अप्रैल को कुंभ राशि में प्रवेश किया था। और अब इसी राशि में 5 जून से वक्री अवस्था में हो गए हैं। शनि की वक्री अवस्था का अर्थ है उल्टी चाल चलना। शनि कुंभ राशि में 5 जून को सुबह 03 बजकर 16 मिनट पर वक्री हुए हैं। ऐसे में इसका असर हर राशि पर होगा। तो चलिए आपको बता दें, शनि की वक्री अवस्था का आप पर क्या प्रभाव पड़ेगा।

मेष राशि वालों शनि आपकी राशि के 11वें भाव में वक्री होंगे। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, शनि की यह चाल आपके लिए शुभ परिणाम लेकर आएगी। नौकरी में सकारात्मक बदलाव देखने को मिल सकते हैं। नौकरी में नए अवसरों की प्राप्ति भी हो सकती है। 

वृषभ राशि वालों शनि आपकी राशि के दशम भाव में वक्री होंगे। शनि का यह चाल आपके करियर के लिए लाभकारी साबित होगी। इस दौरान आपको पदोन्नति मिल सकती है। पार्टनरशिप के काम में फायदा होगा। वाद-विवाद से बचें।

मिथुन राशि वालों आपकी राशि के नौवें भाव में शनि वक्री अवस्था में प्रवेश करेंगे। इस दौरान आपको सेहत को लेकर दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। यात्रा के योग हैं, लेकिन इससे नुकसान हो सकता है। भाई-बहन के साथ मतभेद हो सकते हैं।

कर्क राशि वालों के लिए वक्री शनि मुश्किलें खड़ी कर सकते हैं। शनि आपकी राशि के आठवें भाव में वक्री चाल चलेंगे। जिससे आपको धन हानि के योग हैं। लंबी यात्रा के योग बनेंगे। वैवाहिक जीवन में दिक्कतें आ सकती हैं।

सिंह राशि वालों के शनि सातवें भाव में वक्री अवस्था में प्रवेश करेंगे। शनि की इस अवस्था में आपके वैवाहिक जीवन में मुश्किलें आ सकती हैं। पार्टनरशिप के काम में नुकसान हो सकता है। गुप्त शत्रु परेशान करेंगे। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले छात्रों के लिए समय अनुकूल है।

कन्या राशि वालों शनि आपकी राशि के छठवें भाव में वक्री चाल लेंगे। इस दौरान आपकी सेहत बिगड़ सकती है। गुप्त शत्रु परेसान कर सकते हैं। आर्थिक नुकसान के योग बनेंगे। वाहन प्रयोग में सावधानी बरतें।

तुला राशि वालों के पंचम भाव में वक्री शनि का गोचर आपके लिए मुश्किलें खड़ी कर सकता है। यह समय लव लाइफ के लिए अनुकूल नहीं है। परिवार में दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। सेहत का ध्यान रखें।

वृश्चिक राशि वालों आपकी राशि के चौथे भाव में संचार करने वाले वक्री शनि आपकी माता के स्वास्थ्य पर प्रभाव डालेंगे। संपत्ति को लेकर विवाद हो सकता है। पारिवारिक जीवन मुश्किलों भरा हो सकता है। करियर के लिए समय अच्छा नहीं है।

धनु राशि वालों के तीसरे भाव में वक्री शनि गोचर करेंगे। यह समय आपके करियर के लिए अनुकूल रहेगा और आपको नए अवसरों की प्राप्ति होगी। भाई-बहन का साथ मिलेगा।
मकर राशि वालों के लिए दूसरे भाव में वक्री शनि संचार करेंगे। इस दौरान घर में विवाद की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। सुख-सुविधाओं में वृद्धि होगी। सेहत में लाभ मिलेगा। नौकरी के लिए समय उत्तम है।

कुंभ राशि वालों आपकी राशि के प्रथम भाव में वक्री शनि का संचार होगा। जिसके कारण आपको मानसिक तनाव हो सकता है। आपके खर्च बढ़ेंगे। वैवाहिक जीवन में असर पड़ेगा। कार्यस्थल पर उन्नति संभव है।

मीन राशि वालों आपकी राशि के द्वादश भाव में वक्री शनि का गोचर आपके खर्चों में वृद्धि करेगा। इस दौरान आपको सेहत का विशष ध्यान रखने की जरूरत है। नौकरी पेशा करने वाले जातक सतर्क रहें। वैवाहिक लोग धैर्य व संयम बरतें।
 

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!