सोलोमन संधि पर चीन ने दी सफाई, द्विपीय देशों के साथ भागीदारी से ऑस्ट्रेलिया को कोई खतरा नहीं

Edited By Tanuja, Updated: 12 May, 2022 02:40 PM

chinese ambassador says solomons pact no threat to australia

चीन के एक राजदूत ने कहा कि दक्षिण प्रशांत महासागर में स्थित द्विपीय देशों के साथ चीन की भागीदारी से ऑस्ट्रेलिया को कोई खतरा नहीं है। उन्होंने कहा

कैनबरा: चीन के एक राजदूत ने कहा कि दक्षिण प्रशांत महासागर में स्थित द्विपीय देशों के साथ चीन की भागीदारी से ऑस्ट्रेलिया को कोई खतरा नहीं है। उन्होंने कहा कि द्विपीय देश सोलोमन और चीन के बीच द्विपक्षीय सुरक्षा संमझौता समृद्धि और स्थिरता के लिए है और इससे ऑस्ट्रेलिया को खतरा नहीं है। वह यह आशंका जताये जाने पर जवाब दे रहे थे कि बीजिंग सोलोमन द्वीप में सैन्य अड्डा स्थापित करेगा।

 

ऑस्ट्रेलिया में चीन के राजदूत जिओ कियान ने बृहस्पतिवार को एक समाचार पत्र में प्रकाशित लेख में अपने मेज़बान देश को आश्वस्त करने का प्रयास किया, क्योंकि द्विपक्षीय सुरक्षा समझौते के पूरा होने के बाद एक उच्च स्तरीय चीनी प्रतिनिधिमंडल द्वारा सोलोमन की सुनियोजित यात्रा की रिपोर्ट सामने आई थी।  जिओ ने 'द ऑस्ट्रेलियन फाइनेंशियल रिव्यू' अखबार में लिखा ''चीन और दक्षिण प्रशांत के द्वीपीय देशों के बीच सहयोग दोनों पक्षों के लोगों की भलाई और क्षेत्रीय समृद्धि और स्थिरता के लिए अनुकूल हैं। ऑस्ट्रेलिया की सुरक्षा को किसी भी तरह से खतरा नहीं होगा।''

 

प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन, जिनकी सरकार अगले सप्ताह चुनावों में चौथे कार्यकाल के लिए मुकाबला करेगी, का कहना है कि वह राजदूत से असहमत हैं कि ''प्रशांत क्षेत्र में चीनी सरकार के हस्तक्षेप का कोई असर नहीं पड़ेगा।'' मॉरिसन ने संवाददाताओं से कहा ''मुझे लगता है कि इसका बहुत बड़ा परिणाम है। मैं केवल ऑस्ट्रेलिया के राष्ट्रीय हितों का समर्थन करता हूं, न कि चीनी सरकार के राष्ट्रीय हितों का। इसलिए मैंने हमेशा इस पर बहुत कड़ा रुख अपनाया है।'' ऑस्ट्रेलिया और संयुक्त राज्य अमेरिका सहित उसके सहयोगियों को डर है कि चीन-सोलोमन संधि के परिणामस्वरूप पूर्वोत्तर ऑस्ट्रेलियाई तट से 2,000 किलोमीटर (1,200 मील) से कम दूरी पर एक चीनी नौसैनिक अड्डा स्थापित हो जाएगा।

 

सोलोमन के प्रधानमंत्री मनासेह सोगावेर ने कहा कि उनके देश में कोई चीनी सैन्य अड्डा स्थापित नहीं होगा और चीन ने द्वीपों में सैन्य पैर जमाने की मांग से इनकार किया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक चीन के विदेश मंत्री वांग यी सोलोमन की यात्रा की योजना बना रहे हैं। बीजिंग में बुधवार को चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने पत्रकारों से से कहा कि उन्हें वांग की यात्रा योजनाओं के बारे में कोई जानकारी नहीं है। 'द ऑस्ट्रेलियन फाइनेंशियल रिव्यू' की खबर के अनुसार सोलोमन के विपक्षी सांसद और संसदीय विदेश संबंध समिति के अध्यक्ष पीटर केनिलोरिया ने कहा कि यह यात्रा अगले सप्ताह के अंत में हो सकती है।  

Related Story

Trending Topics

Indian Premier League
Lucknow Super Giants

Royal Challengers Bangalore

Match will be start at 25 May,2022 07:30 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!