बांग्लादेश ने दी सफाई- पद्मा ब्रिज चीन के BRI प्रोजेक्ट का हिस्सा नहीं

Edited By Tanuja, Updated: 20 Jun, 2022 12:04 PM

padma bridge not part of china s bri initiative bangladesh

बांग्लादेश ने एक नवनिर्मित सड़क पुल पद्मा ब्रिज के निर्माण को चीन की अरबों डॉलर की बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (BRI ) परियोजना से जोड़ने वाली खबरों

ढाका: बांग्लादेश ने एक नवनिर्मित सड़क पुल पद्मा ब्रिज के निर्माण को चीन की अरबों डॉलर की बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (BRI ) परियोजना से जोड़ने वाली खबरों को खारिज करते हुए कहा कि देश के सबसे लंबे पुल के लिए सरकार ने पूर्णरूपेण वित्तपोषण किया है और इसके निर्माण में किसी भी विदेशी धन का इस्तेमाल नहीं किया गया है। प्रधानमंत्री शेख हसीना 25 जून को लगभग 10 किलोमीटर लंबे ‘पद्मा ब्रिज' का उद्घाटन करेंगी। इस पुल के जरिये सड़क मार्ग से बांग्लादेश के दक्षिण-पश्चिमी क्षेत्र को राजधानी ढाका और देश के अन्य हिस्सों से जोड़ा जा सकेगा।

 

विदेश मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘‘यह पुल BRI प्रोजेक्ट से संबंधित नहीं है और बांग्लादेश ने इसके (पुल के) निर्माण के लिए कोई विदेशी धन नहीं लिया है।'' बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव अरबों डॉलर की ऐसी परियोजना है जिसे चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग द्वारा 2013 में सत्ता में आने के बाद शुरू किया गया था। इसका उद्देश्य दक्षिण पूर्व एशिया, मध्य एशिया, खाड़ी क्षेत्र, अफ्रीका और यूरोप को सड़क और समुद्री मार्गों के नेटवर्क से जोड़ना है। विदेश मंत्रालय की प्रतिक्रिया पिछले हफ्ते 'बांग्लादेश-चीन सिल्क रोड फोरम' नामक एक समूह की इस घोषणा के बाद आई है, जिसमें कहा गया है कि 22 जून को ‘पद्मा ब्रिज: बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव के तहत बांग्लादेश-चीन सहयोग का एक उदाहरण' पर एक परिचर्चा आयोजित की जाएगी।

 

समूह द्वारा मीडिया को निमंत्रण पत्र वितरित करने के कुछ घंटे बाद, विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर पुल के बीआरआई से संबंधित होने की खबरों का खंडन किया, जिससे आयोजकों को अपनी नियोजित चर्चा एक दिन बाद के लिए टालनी पड़ी है। विदेश कार्यालय के बयान में कहा गया है, ‘‘विदेश मंत्रालय के संज्ञान में आया है कि कुछ वर्ग यह दर्शाने की कोशिश कर रहे हैं कि पद्मा बहु-उद्देशीय पुल का निर्माण विदेशी धन की सहायता से किया गया है और यह बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव का एक हिस्सा है।''

 

बयान के अनुसार, पद्मा बहु-उद्देश्यीय पुल पूरी तरह से बांग्लादेश सरकार द्वारा वित्त-पोषित है और ‘किसी अन्य द्विपक्षीय या बहुपक्षीय वित्त पोषण एजेंसी से किसी भी विदेशी धन' का इस्तेमाल इसमें नहीं किया गया है। इस बीच, एक चीनी दूतावास के प्रवक्ता ने ढाका में पत्रकारों के एक समूह को बताया कि पुल पूरी तरह से बांग्लादेशी धन से बनाया गया है। प्रवक्ता ने यह भी कहा, ‘‘हमें गर्व है कि एक चीनी निर्माण कंपनी पद्मा ब्रिज के निर्माण में शामिल थी।'' उन्होंने कहा, ‘‘दशकों पहले हमारी मातृ नदी (पीली नदी) पर एक पुल बनाने वाली (चीन रेलवे मेजर ब्रिज इंजीनियरिंग कॉरपोरेशन) कंपनी ने चीन के बाहर (पद्मा के ऊपर) पहला सबसे लंबा पुल बनाया है।''  

Related Story

Trending Topics

Ireland

221/5

20.0

India

225/7

20.0

India win by 4 runs

RR 11.05
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!