महामाया बाला सुंदरी मंदिर को मिला BHOG सर्टिफिकेट, जानें क्यों मिलता है ये Certificate

Edited By Jyoti, Updated: 09 Apr, 2021 04:48 PM

mahamaya bala sundari temple gets bhog certificate

हर मंदिर का अपना अलग प्रसाद होता है। कहीं पर लड्डू मिलते हैं तो कहीं मिठाई। तो वहीं कहीं तो नारियल भी मिलता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
हर मंदिर का अपना अलग प्रसाद होता है। कहीं पर लड्डू मिलते हैं तो कहीं मिठाई। तो वहीं कहीं तो नारियल भी मिलता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि मंदिर के प्रसाद की शुद्धता के लिए एक सर्टिफिकेट भी मिलता है। जिसे BHOG सर्टिफिकेट यानी  Blissful Hygiene Offering to God certificate कहा जाता है। जिसकी वैलिडिटी 2 साल तक मान्य होती है। हाल ही में ये सर्टिफिकेट त्रिलोकपुर के महामाया बाला सुंदरी मंदिर को मिला है।

इस मंदिर में परोसे जाने वाले लंगर और भोग की गुणवत्ता A+ ग्रेड पाई गई है। भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण भारत सरकार की ओर से करवाए गए ऑडिट में खुलासा हुआ। इसके लिए बाकायदा प्राधिकरण की ओर से पहले प्री ऑडिट हुआ और उसके बाद फाइनल ऑडिट। महामाया बाला सुंदरी ट्रस्ट को प्राधिकरण के मानदंडों के अनुसार 114 में से 105 अंक मिले हैं।

गौरतलब है कि त्रिलोकपुर स्थित महामाया बाला सुंदरी मंदिर में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ रहती है। ट्रस्ट की ओर से बनाए जाने वाले लंगर, भोग और प्रसाद की जांच के लिए कुछ अरसे पहले भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण की टीम ने दौरा किया था। प्री ऑडिट में लंगर के बनने वाले भोजन के लिए राशन कहां से खरीदा जाता है, कहां उसका भंडारण किया जाता है और कहां कैसे वातावरण में बनाया जाता है, इसको आधार मान कर अंक दिए गए।

इसके बाद सुधार के लिए निर्देश दिए गए। फाइनल ऑडिट में भोग, भोजन और प्रसाद बनाने वाले कर्मियों के बाकायदा मेडिकल किए गए हैं। साथ ही स्वच्छता को लेकर भी अलग से अंक दिए गए। सबसे महत्वपूर्ण उस पानी की भी जांच की गई, जिससे यह सब तैयार किया जाता है। खाद्य सुरक्षा विभाग के सहायक आयुक्त अतुल कायस्था ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि महामाया बाला सुंदरी मंदिर के लंगर, भोग और प्रसाद को ए प्लस ग्रेड मिली है। इसका सर्टिफिकेट भी जारी हो गया है।

इसके अलावा पटना के प्रसिद्ध महावीर मंदिर में हनुमान जी को भोग लगने वाला नैवेद्यम लड्डू को पूरी तरह से शुद्ध है। जिसकी वजह से विशेष प्रसाद नैवेद्यम को भारत सरकार के खाद्य मंत्रालय से सर्टिफिकेट मिला है। इसकी शुद्धता की गारंटी FSSAI खाद्य सुरक्षा एवं प्राधिकरण ने ली है। भारत सरकार के खाद्य मंत्रालय की ओर से 'भोग' सर्टिफिकेट महावीर मंदिर के नैवेद्यम लड्डू को दिया गया है। इसकी जानकारी खुद महावीर मंदिर के प्रमुख आचार्य किशोर कुणाल ने दी है। उन्होंने बताया कि खाद्य सुरक्षा विभाग के अधिकारियों ने महावीर मंदिर में हनुमान को लगाए जाने वाले नैवेद्यम लड्डू की जांच की थी। जांच प्रक्रिया में पूरी तरह से पास होने के बाद इसकी रिपोर्ट FSSAI को भेजी गई थी।
 

Trending Topics

Indian Premier League
Gujarat Titans

Rajasthan Royals

Match will be start at 24 May,2022 07:30 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!