कर्मचारियों के कार्यालय लौटने, नियुक्तियां बढ़ने से कार्यालय स्थलों की मांग बढ़ेगी: टाटा रियल्टी

Edited By jyoti choudhary, Updated: 17 Apr, 2022 04:26 PM

demand for office spaces will increase as employees return to office

टाटा रियल्टी एंड इंफ्रास्ट्रक्चर के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) संजय दत्त का मानना है कि वर्ष 2022 में देश के सात प्रमुख शहरों में पट्टे पर कार्यालय स्थलों की मांग बढ़कर तीन करोड़ वर्ग फुट पहुंच जाएगी। वर्ष 2021 में यह मांग 2.6...

नई दिल्लीः टाटा रियल्टी एंड इंफ्रास्ट्रक्चर के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) संजय दत्त का मानना है कि वर्ष 2022 में देश के सात प्रमुख शहरों में पट्टे पर कार्यालय स्थलों की मांग बढ़कर तीन करोड़ वर्ग फुट पहुंच जाएगी। वर्ष 2021 में यह मांग 2.6 करोड़ वर्ग फुट रही थी। दत्त ने कहा कि कोविड-19 के प्रतिकूल प्रभाव के बाद अब विभिन्न क्षेत्र उबर रहे हैं और नियुक्ति गतिविधियों में तेजी आई है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के मामले घटने के साथ वाणिज्यिक गतिविधियां बढ़ी हैं। कर्मचारियों के कार्यालय लौटने के बाद इसमें और सुधार होगा। ‘‘शुरुआती संकेतों से लगता है कि शीर्ष सात शहरों में कार्यालय स्थलों की मांग पिछले साल का आंकड़ा पार कर जाएगी।'' 

उन्होंने कहा कि कार्यालय स्थलों की कुल मांग वर्ष 2022 में तीन करोड़ वर्ग फुट को पार कर जाएगी, जो पिछले साल 2.6 करोड़ वर्ग फुट थी। उन्होंने कहा, ‘‘बड़े पैमाने पर भर्तियां पहले से चल रही हैं। कई क्षेत्र अब महामारी के बाद उबर रहे हैं। हमें लगता है कि कोई खतरा नहीं है, बल्कि अवसर और भी बेहतर हैं।'' उन्होंने कहा कि आगे चलकर कंपनी कार्यालय पार्क स्थापित करेगी जो किरायेदारों की जरूरतों के अनुरूप होंगे। 

दत्त ने कहा, ‘‘हर कोई संपर्क-रहित सुविधा चाहता है। हर कोई ऐसी संपत्ति चाहता है जहां कर्मचारी खुद को सुरक्षित महसूस करें। हम ऐसी इमारतों को डिजाइन करेंगे जो टिकाऊ, ‘वेलनेस' प्रमाणित और कर्मचारियों के लिए अधिक आकर्षक हों।'' उन्होंने कहा कि ‘इंटेलियन' ब्रांड नाम के तहत टाटा रियल्टी एंड इंफ्रास्ट्रक्चर के कार्यालय पार्क स्मार्ट और टिकाऊ भवन होंगे। 

उल्लेखनीय है कि 12 अप्रैल को कनाडा पेंशन प्लान इन्वेस्टमेंट बोर्ड (सीपीपीआईबी) ने चेन्नई और गुरुग्राम में टाटा रियल्टी और इंफ्रास्ट्रक्चर की दो प्रीमियम वाणिज्यिक कार्यालय परियोजनाओं में 49 प्रतिशत हिस्सेदारी हासिल करने के लिए 2,600 करोड़ रुपए का निवेश करने की घोषणा की है। इन दो परियोजनाओं में टाटा रियल्टी के पास शेष 51 प्रतिशत हिस्सेदारी रहेगी। दोनों कंपनियों के संयुक्त उद्यम की योजना भविष्य की वृद्धि के लिए जमीन का अधिग्रहण करने की है। संयुक्त उद्यम इसमें 2,000 करोड़ रुपए का निवेश करेगा। 

टाटा रियल्टी ने वाणिज्यिक रियल एस्टेट संपत्तियों के विकास और स्वामित्व के लिए सीपीपीआईबी के साथ साझेदारी की है। दत्त ने कहा, ‘‘हम अपने वाणिज्यिक रियल एस्टेट संपत्तियों के कारोबार को बढ़ाना चाहते हैं। हमारा लक्ष्य अगले पांच से सात साल में 4.5 करोड़ वर्ग फुट क्षेत्र का विकास करने का है।'' 
 

Related Story

Trending Topics

Indian Premier League
Mumbai Indians

Sunrisers Hyderabad

Match will be start at 17 May,2022 07:30 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!